मां सीता पर बयान को लेकर लोग आक्रोशित

0

बिहार के मिथिलांचल क्षेत्र से आकर इंदौर में निवास कर रहे लोगों की संस्था विद्यापति परिषद् ने उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के उस बयान की तीव्र निंदा की है, जिसमें उन्होंने जनकनंदिनी मां सीता, जो `मैथिली’ के नाम से भी जानी जाती हैं, उन्हें टेस्ट ट्यूब बेबी बताया था| उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री के बेतुके बयान की तीव्र भर्त्सना करते हुए विद्यापति परिषद् के सचिव केके झा, विद्यापति चेतना समिति के अध्यक्ष मुकेश झा, पूर्वोत्तर सांस्कृतिक संस्थान,  मध्यप्रदेश के सचिव अजय कुमार झा ने कहा कि मां सीता की तुलना टेस्टट्यूब बेबी से कर उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने न सिर्फ मां सीता को अपमानित किया है बल्कि उनका यह बयान मिथिलांचल के साथ-साथ देश के उन करोड़ों लोगों का अपमान है, जिनके लिए मां सीता उतनी ही पूजनीय हैं जितने कि मर्यादा पुरुषोत्तम राम|

विद्यापति परिषद् के वरिष्ठ सदस्य दशरथ झा, विजय झा, लक्ष्मण झा, नुनु झा मैथिल के साथ शहर में रह रहे मिथिलांचल के हजारों लोगों ने दिनेश शर्मा के बयान की निंदा करते हुए  उन्हें अपने बयान को अतिशीघ्र वापस लेकर मिथिला और बिहार सहित देश के उन करोड़ों लोगों से माफ़ी मांगने के लिए कहा है, जिनके लिए मां सीता ईष्ट एवं कुलदेवी हैं| झा ने कहा कि उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री के मां सीता के प्रति इस अमर्यादित एवं अशोभनीय बयान से संपूर्ण मिथिलांचल में आक्रोश है तथा आगामी रविवार समाज के लोगों ने उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री का पुतला दहन करने का निर्णय लिया है|

पूर्वोत्तर सांस्कृतिक संस्थान के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर जगदीशसिंह और बिहारी सोशल ग्रुप के विनोद शर्मा के साथ इंदौर में रह रहे भोजपुरी समाज के लोगों ने भी मां सीता के प्रति उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री द्वारा दिए गए बयान को घोर अपराध एवं अक्षम्य बताया है|

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश के मथुरा में ‘हिन्दी पत्रकारिता दिवस’ पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए दिनेश शर्मा ने अपने बयान में कहा था कि लोग कहते हैं कि सीताजी का जन्म एक मिट्टी के बर्तन से हुआ था, इसका मतलब है कि रामायण के समय टेस्ट ट्यूब बेबी जैसा कॉन्सेप्ट होगा|

अजय कुमार झा (प्रदेश सचिव) 

                                              पूर्वोत्तर सांस्कृतिक संस्थान

Share.