विश्व शांति के लिए इंदौर में मानव श्रृंखला

0

1 सितंबर ‘युद्ध विरोधी दिवस’ के मौके पर ‘अखिल भारतीय शांति एवं एकजुटता संगठन’ की इंदौर इकाई के आवाहन पर इंदौर में विशाल मानव श्रृंखला बनाई गई और युद्ध विरोधी नारेबाजी की गई । द्वितीय विश्व युद्ध की विभीषिका से लोगों को परिचित कराने और हथियारों की होड़ से होने वाले नुकसान से लोगों को जागरुक करने के लिए दुनियाभर में 1 सितंबर को युद्ध विरोधी दिवस मनाया जाता है। इंदौर में भी अखिल भारतीय शांति एवं एकजुटता संगठन के आव्हान पर वामपंथी समाजवादी कार्यकर्ताओं और विश्व शांति से प्रेम करने वाले लोगों ने इंदौर के रिगल तिराहे पर मानव श्रृंखला बनाई ।

मानव श्रंखला में प्रमुख रुप से पूर्व सांसद कल्याण जैन, पेरीन दाजी ,बसंत शिंत्रे ,रामबाबू अग्रवाल, श्याम सुंदर यादव, रूद्र पाल यादव ,कैलाश लिंबोदिया,रामस्वरूप मंत्री,  विनीत तिवारी, अरविंद पोरवाल ,अजय लागू ,सुरेश उपाध्याय ,एस के दुबे ,अतुल लागू ,शैला शित्रे, सोहनलाल शिंदे ,अशोक दुबे ,सुनील चंद्रन, केसरी सिंह चिढार ,मोहन निमजे,  रामस्वरूप मंत्री, कैलाश गोठानिया निहारिका श्रीवास्तव, चुन्नीलाल वाधवानी, सौम्य अग्रवाल राजेश बकावले,दिनेश तिवारी सहित बडी संख्या में राजनीतिक सामाजिक ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता  शरीक थे ।

मानव श्रृंखला में शामिल कार्यकर्ताओं एवं उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए विभिन्न वक्ताओं ने विश्व के तमाम देशों के बढ़ते रक्ष खर्चों पर चिंता जाहिर की तथा कहा कि विध्वंसक हथियारों के लगातार उत्पादन एवं संग्रहण से संपूर्ण मानव जाति के लिए खतरा पैदा हो गया है । वक्ताओं ने कहा कि आज सक्षम राष्ट्र प्राकृतिक संसाधनों खनिज एवं तेल भंडारों पर कब्जा करने एवं अपने साम्राज्यवादी मंसूबों को लेकर विकासशील अर्थव्यवस्थाओं को लगातार बर्बाद करने पर तुले हुए हैं लीबिया अफगानिस्तान सीरिया फिलिस्तीन वेनेजुएला इराक जैसे देशों की अर्थव्यवस्थाओं को लगातार हिंसा और युद्ध में झोंककर बर्बाद किया जा रहा है वक्ताओं ने मांग की कि दुनिया में हिंसा आतंक युद्ध एवं उसके बहाने हत्यारों का व्यापार बंद किया जाए ।

प्रेषक- रामस्वरूप मंत्री

Share.