website counter widget

तो इस कारण जीते कंगारू ?

0

इंग्लैंड और वेल्स में खेले जा रहे ICC cricket world cup के 12 वे संस्करण में दुनिया की टॉप 10 टीम एक दूसरे के ख़िलाफ़ खेल रही है| अब तक टूर्नामेंट का आधे से ज्यादा सफ़र तय कर चुकी टीमें फ़िलहाल अंतिम चार में जगह पाने के लिए जद्दोजहद में लगी है, ऐसे में एक टीम जो पांच बार विश्वकप जीतने का कारनामा कर चुकी है, एक अलग ही मक़ाम हासिल करने में जुटी है| वह है आस्ट्रेलिया | कंगारुओं (Australia Team Success Secret In ICC World Cup 2019) के खेल का लेवल सारी दुनिया जानती है और अब यह टीम एक अलग ही मिशन पर है|

इंग्लैंड को हराकर अंतिम चार में सबसे पहले अपनी जगह पक्की कर चुकी ऑस्ट्रेलियाई टीम ख़िताब के प्रबल दावेदारों में शामिल है| लेकिन वर्ल्ड कप की शुरुआत में उसका सफ़र इतना आसान नजर नहीं आ रहा था | मसलन टीम रिबिल्ट हुई और फिर डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ की वापसी को एडजस्ट कर रही थी| ऐसे में टीम ने सही समय पर क्लीक किया और दुनिया को दिखाया की क्यों कंगारू टीम विश्व क्रिकेट की बेताज बादशाह है|

हम आपको बताते है कंगारुओं की इस बेहतरीन वापसी के पांच फैक्टर्स (Australia Team Success Secret In ICC World Cup 2019)

VIDEO : गुस्से से लाल स्टोक्स ने मैदान में की ऐसी हरकत

1 फैक्टर -आरोन फिंच की कप्तानी और टीम को एकजुट करने की गजब की क्षमता – मुश्किल में घिरी टीम को कप्तान फिंच ने एकजुट किया और जताया की वे पांच बार की चैम्पियन टीम का हिस्सा है| पॉजिटिव माइंड सेट के साथ टीम की बॉडी लेंग्वेज से भी चैंपियन वाली झलक देखी जा सकती है|

2 फैक्टर -बेजोड़ ओपनर- कंगारू ओपनर इस विश्वकप में किसी भी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ाने के इरादे के साथ क्रीज पर आ रहे है| गजब के फॉर्म में चल रहे डेविड वार्नर 500 और आरोन फिंच 496 रन बनाकर टूर्नामेंट के लीडिंग स्कोरर है|

विडंबना: टीम इंडिया ‘ओप्पो’ और अफगान ‘अमूल’ के साथ

3 फैक्टर-मिडिल आर्डर का भरपूर सपोर्ट -ओपनर्स के द्वारा दी गई शानदार शुरुआत को स्टीव स्मिथ , उस्मान ख़्वाजा के साथ मिडिल आर्डर केश कर रहा है| नतीजा सबके सामने है | मिडिल आर्डर की उपयोगी पारिया टीम को जीत दिलवा रही है|

4 फैक्टर-स्विंग और पेस का कहर – ICC के बड़े टूर्नामेंट में मिचेल स्टार्क की धार और तेज़ हो जाती है| स्टार्क ने बेनस्टोक्स को जिस स्विंग और यॉर्क से बोल्ड किया वह उनके कद को दर्शाती है| उनकी अगुवाई में पेट कमिंस और बेहरीनड्राप की स्विंग और पेस विपक्षी बल्लेबाजों के लिए सिरदर्द बनी हुए है|

5 फैक्टर-फील्डिंग – कंगारुओं की फील्डिंग सदा से ही आला दर्जे की रही है जो उनका प्लस फैक्टर है | बल्लेबाजों और गेंदबाजों को 20-25 रन बोनस में कंगारू फील्डिंग मुहैया कराती है जो अंत में बड़ा फर्क पैदा करती है|

AUS सेमीफाइनल में, अब ये 3 टीम बन सकती हैं सेमीफाइनल का हिस्सा

 

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.