गांगुली ने बताया उपाय: बारिश के दस मिनट बाद ही शुरू हो जाएगा मैच

0

वर्ल्ड कप 2019 में बारिश विलेन का रोल निभा रही है| अब तक टूर्नामेंट के शुरुआती 18 मैचों में से चार मैच बारिश की भेंट चढ़ गए हैं| ऐसे में चारों तरफ आईसीसी को आलोचना हो रही है| अब इसी क्रम में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly Tips For ICC World Cup 2019)  ने इंग्लैंड में लगातार हो रही बारिश से निपटने का उपाय सुझाया है| गांगुली ने बताया कि किस तरह बारिश के बाद मैच शुरू किया जा सकता है| टूर्नामेंट में गुरुवार को भारत और न्यूजीलैंड का नॉटिंघम में होने वाला मुकाबला भी बारिश में धुल गया| दोनों कप्तानों के बीच टॉस तक नहीं हो सका| अगले हफ्ते भी लगातार बारिश होने का अनुमान जताया गया है और ग्रुप मैचों के लिए आईसीसी ने कोई रिजर्व डे भी नहीं रखा है|

Gabbar is back! धवन की फिटनेस पर आया नया अपडेट..

ऐसे में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने सुझाव दिया (Sourav Ganguly Tips For ICC World Cup 2019) है कि बारिश से बचने के लिए कवर्स बदल दिए जाने चाहिए| उन्होंने कोलकाता के ईडन गार्डेंस पर इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स का हवाला देते हुए यह बात कही है| बता दें कि बारिश के दौरान पहले सिर्फ पिच और 30 यार्ड के सर्कल का एरिया ही कवर्स से ढका जाता था| मगर बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) का अध्यक्ष पद संभालने के बाद गांगुली ने ही बारिश में पूरे मैदान को हल्के कवर्स से ढकने की शुरुआत की| इसका काफी फायदा भी देखने को मिला| सौरव गांगुली ने बताया कि ईडन गार्डेंस में इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स इंग्लैंड में लॉर्ड्स स्टेडियम में भी इस्तेमाल होते हैं|

गूगल सीईओ की भविष्यवाणी, इन टीमों के बीच होगा फाइनल

उनके (Sourav Ganguly Tips For ICC World Cup 2019) अनुसार, अगर इन कवर्स का इस्तेमाल आउटफील्ड ढकने के लिए भी किया जाए तो घास का रंग बदलकर भूरा नहीं होगा. साथ ही वर्ल्ड कप जैसे अहम टूर्नामेंट में खासकर इंग्लैंड में जहां बारिश लगातार होती है, आउटफील्ड को ढकना भी बेहद अहम है| सौरव गांगुली ने बताया कि ईडन पर इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स इंग्लैंड से ही मंगाए गए हैं| अगर इन कवर्स का इंग्लैंड में ही इस्तेमाल करेंगे तो यह आधी कीमत पर उपलब्‍ध होंगे और टैक्स फ्री रहेंगे| गांगुली के अनुसार, भारत में हम सभी मैचों के लिए इन कवर्स का इस्तेमाल करते हैं| ऐसे में जब बारिश रुकती है तो दस मिनट के अंदर ही मैच शुरू किया जा सकता है|

जो जीता हुआ मैच हार जाए, उसे पाकिस्तान कहते हैं!

गांगुली ने बताई ये खासियत-

-कोलकाता के ईडन गार्डेंस में इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स हल्के होते हैं|
-इन्हें एक से दूसरी जगह ले जाना आसान होता है|
-इनके लिए अधिक मैनपावर की जरूरत नहीं होती|
-पहले जो नीले कवर्स इस्तेमाल होते थे, उनकी तुलना में दस गुना अधिक वक्त बचता है|
-हल्के होने के चलते सूरज की रोशनी भी इन कवर्स के आर-पार होती है, जिससे मैदान सुखाने में मदद मिलती है|
गांगुली ने ही की थी पूरा मैदान ढकने की शुरुआत|

Share.