टीम इंडिया की हार पर फैन्स और दिग्गजों की प्रतिक्रिया

0

बर्मिंघम में खेले गए आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप (icc cricket world cup) के मुकाबले में इंग्लैंड ने टीम इंडिया (team india) को 31 रनों से मात दे दी | लेकिन जिस तरह से इस मैच में टीम इंडिया (team india) की बल्लेबाजी हुई वह अब कई सवालों को जन्म दें गई है केदार जाधव और महेंद्र सिंह धोनी की बैटिंग पर प्रश् चिन्ह उठाने वालों में फैन्स और दिग्गज क्रिकेटर सब शामिल है|

मध्यक्रम के बल्लेबाजों के लिए अब तक यह टूर्नामेंट बेहद बुरा रहा है और टीम इसे लेकर चिंतित है| 45वें ओवर में महेंद्र सिंह धोनी का साथ निभाने केदार जाधव उतरे| भारत को 31 गेंदों में 71 रन बनाने थे| लेकिन दोनों की बेटिंग से कभी नहीं लगा कि ये दोनों जीत के लिए खेल रहे हों| बड़े शॉट की जगह दोनों सिंगल ले रहे थे |

अंततः धीमी बल्लेबाजी ही बनी टीम इंडिया की हार का कारण


अब इस पर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और कमेंटेटर सौरव गांगुली ने कहा, ‘आपके पास 5 विकेट हैं फिर भी आप जीत की कोशिश नहीं करते, ये सब माइंड सेट बताता है|’ अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में भी धोनी और जाधव की बल्लेबाजी की खूब आलोचना हुई थी| सचिन तेंदुलकर ने तो धोनी की बल्लेबाजी पर ही सवाल खड़े कर दिए थे| अफगानिस्तान के विरुद्ध मैच में धोनी ओर जाधव पांचवें विकेट के लिए 84 गेंदों में 57 रन ही जोड़ पाए थे|

महेंद्र सिंह धोनी की सबसे बड़ी कमजोरी जो अब तक सामने आई है, वह है स्ट्राइक को कम रोटेट करना और डॉट बॉल अधिक खेलना| धोनी की बैटिंग को लेकर पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण टिप्पणी कर चुके है| वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि धोनी को अपनी इस अप्रोच पर काम करना होगा| लक्ष्मण ने कहा, ‘पारी की शुरुआत में धोनी का स्ट्राइक रेट 45-50 के बीच था| इससे टीम पर और उनके साथ बल्लेबाजी कर रहे खिलाड़ी पर प्रेशर बनता है|’

सेमीफाइनल में 350 से कम में गुजारा नहीं होगा!

वहीं इस पर भारतीय टीम के फैन्स भी नाराज है –

धोनी की इस पारी को लेकर सोशल मीडिया पर उनके फैंस उन्हें रिटायरमेंट लेने की सलाह दे रहे है | कुछ लोगों का ये भी कहना था कि धोनी ने फिनिशर की तरह मैच खत्म किया और पाकिस्तान की राह में रोड़े अटका दिए|

एक यूज़र ने एक मीम पोस्ट करते हुए लिखा कि धोनी पाकिस्तान को शिकस्त देने के लिए जानबूझकर हारे हैं|

एक अन्य यूज़र ने मीम पोस्ट करके धोनी के रन न लेने का मज़ाक बनाया|

एक यूज़र ने लिखा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ऐसा कहूंगा, धोनी को या तो परफॉर्म करना होगा या फिर रिटायर होना होगा|

लोगों का ये भी कहना है कि धोनी छक्का लगाने के लिए आखिरी ओवर का इंतज़ार क्यों करते हैं|

पता नहीं कब टूटेंगे विश्व कप इतिहास के ये 5 रिकॉर्ड

एक यूज़र ने कहा कि आज वाकई धोनी बहुत बुरा खेले| ये मानना ही होगा|

कुछ यूज़र इंग्लैंड के खिलाफ हार का ज़िम्मेदार पूरी तरह से धोनी को ठहरा रहे हैं.

Share.