website counter widget

900 वर्ष पुराने इस गणेश मंदिर में होती है हर इच्छा पूरी

0

भारत में कई बेहद ही प्राचीन और चमत्कारी मंदिर और स्थल मौजूद है। देश ऐसे कई प्राचीन और चमत्कारी मंदिरों से भरा पड़ा है। और देश-विदेश से लोग भी इन मंदिरों में दर्शन करने के लिए आते हैं। वहीँ देश में भगवान गणेश के भी कई सारे मंदिर मौजूद हैं जो भक्तों की आस्था का प्रमुख केंद्र भी हैं। लेकिन इन सभी के बीच भगवान गणेश का एक अतिप्राचीन मंदिर मौजूद है जिसमें भगवान श्री गणेश की जो मूर्ती विराजित है वह भी बेहद अलग तरीके की है। तो चलिए जानते हैं इस प्राचीन गणेश मंदिर के बारे में।

लेह-लद्दाख में ‘सिंधु दर्शन फेस्टिवल’ का आनंद

सबसे पहले तो हम आपको यह बता दें कि भगवान गणेश का यह मंदिर तकरीबन 900 वर्ष पुराना है। जी हां 900 वर्ष पुराण यह गणेश मंदिर मध्यप्रदेश में स्थित है। मध्यप्रदेश के महेश्वर नामक स्थान पर यह गणेश मंदिर स्थापित है। इस मंदिर की विशेषता यह नहीं है कि 900 वर्ष पुराना बेहद ही प्राचीन मंदिर है। बल्कि इस मंदिर की खासियत है इसमें स्थापित की गई भगवान श्री गणेश की अलग तरह की मूर्ती। तो आपको बता दें कि इस प्राचीन मंदिर में भगवान गणेश की जो मूर्ती विराजित है वह न तो पत्थर से निर्मित है न किसी धातु से। अब आप सोच रहे होंगे कि पक्का यह मूर्ती हीरे-जवाहरात या फिर रत्नों से बनाई गई होगी। अगर आप यह सोच रहे हैं तो आप सरासर गलत सोच रहे हैं। क्योंकि यह मूर्ती गोबर से निर्मित की गई है।

IRCTC दे रहा है राजस्‍थान घूमने का ऑफर

जी हां अपने बिल्कुल ठीक पढ़ा। इस अति प्राचीन मंदिर में स्थापित भगवान गणेश की जो मूर्ती है वह गोबर से बनी हुई है। गोबर से बनी मूर्ती के कारण ही इस मंदिर को गोबर गणेश मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह भक्तों की आस्था का प्रमुख केंद्र है। यह मंदिर गुबंदनुमा बना हुआ है। इसके पीछे भी एक कहानी है। इस मंदिर के गुंबदनुमा होने के बारे में लोगों का कहना है कि औरंगजेब के शासन काल में इस मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनाने की कोशिश की गई थी। तभी से यह मंदिर बाहर से गुंबद जैसा हो गया। इस मंदिर की एक और ख़ास बात है।

गोबर गणेश मंदिर की दूसरी ख़ास बात यह है कि यहां लोग दूर-दूर से अपनी मनोकामनाएं लेकर आते है। जो भी यहां अपनी मनोकामना लेकर आता है वह यहां हिन्दू धर्म के प्रतीक चिन्ह स्वास्तिक को उल्टा बनाकर लगाता है। इसके बाद जब उसकी मनोकामना पूर्ण होती है तो वह यहां आकर उल्टे लगे स्वास्तिक को सीधा करता है। लोगों को मानना है कि ऐसा करने से भगवान श्री गणेश उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।

Best Summer Holiday Destination : छुट्टियां बिताने की बेस्ट जगहें

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.