website counter widget

election

बस सिर्फ आस, नहीं बुझ रही प्यास…

0

393 views

मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है। बीजेपी और कांग्रेस के अलावा इस बार दिल्ली में सरकार चला रही आप, बसपा, सपा भी यहां मैदान में है। चुनाव के समय नेताओं द्वारा किए गए वादे कभी पूरे नहीं हो पाते हैं| इंदौर में भी यही स्थिति पानी को लेकर है| इस मुद्दे पर कार्टूनिस्ट का नजरिया|

Share.