website counter widget

क्या है ड्रामा, आग में घी डाल रहे लामा…

0

तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा ने कहा कि महात्मा गांधी मोहम्मद अली जिन्ना को भारत का पीएम बनाना चाहते थे, लेकिन जवाहरलाल नेहरू नहीं माने। यदि नेहरू इनकार नहीं करते तो भारत का विभाजन नहीं होता। भारत-पाकिस्तान एक देश होता। उन्होंने कहा कि यदि मोहम्मद अली जिन्ना भारत के प्रधानमंत्री बनते तो देश का बंटवारा नहीं होता। इस मुद्दे पर कार्टूनिस्ट का नज़रिया|

Share.