देश में सामान्य कुछ भी नहीं…!

0

देश में जाति का प्रभाव हर क्षेत्र में देखने को साफ़तौर पर मिलता है| ऐसे में देश की बड़ी-बड़ी संस्थाएं जाति की राजनीति के आगे नतमस्तक नज़र आती है| इसके चलते बस यही कहा जा सकता है कि देश में कुछ भी सामान्य नहीं है, और जो ‘सामान्य’ (वर्ग से ) हैं वो तो कुछ भी नहीं है|

Share.