मैं देश में कुछ नहीं बचने दूंगा

0

जिस तरह से मोदी सरकारी कंपनियों को निजी हाथों में और विदेश हाथों में बेचने पर तुले हुए हैं ऐसा लगता है शायद वे देश में कुछ नहीं बचने देंगे की तर्ज पर काम कर रहे हैं

Indian Railway Privatisation 2020 : रेल की पटरियों के नीचे गरीब की कब्र

Share.