किसान को फिर तारीख

0

किसान आंदोलन पर जब भी कभी सरकार से बातचीत हुई या फैसले की बारी आई सरकार को पूंजी पतियों के इशारों पर मजबूर होकर किसान को तारीख देनी पड़ी

Share.