X

स्कूल में बच्चों से करवाया यह काम तो…

0

118 views

हम अक्सर यह बात सुनते रहते हैं कि सरकारी स्कूल में बच्चों से कभी झाड़ू-पोंछा लगवाया जाता है तो कभी बर्तन धुलवाए जाते हैं| और तो और कई स्कूलों में आए अतिथियों के लिए पानी का गिलास स्कूल के चपरासी की जगह बच्चे ही लाते हैं | कई बार जब स्कूल प्रबंधन ऐसा करते हुए पकड़े जाते हैं तो कुछ बहाना बनाने लगते हैं और कुछ बच्चों को संस्कार देने का बोलकर मुद्दे से दूर हो जाते हैं, लेकिन अब सरकार ने बच्चों से करवाए जा रहे ऐसे काम के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दे दिए हैं|

बताया जा रहा है कि अब यदि स्कूल में कोई छात्र काम करता नजर आया तो संबंधित स्कूल के हेडमास्टर और प्राचार्य की वेतनवृद्धि रोक दी जाएगी और इसके बाद उनकी पदोन्नति भी नहीं हो सकेगी| मानव अधिकार आयोग ने इस आदेश को सभी सरकारी स्कूलों के लिए जारी कर दिया है| विभाग के उपसचिव प्रमोद सिंह के आदेश के मुताबिक, विद्यार्थियों से शिक्षा और खेल के अलावा कोई काम नहीं करवाया जा सकता है| आदेश का उल्लंघन होने पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी|

उन्होंने आगे कहा कि स्कूलों को सरकार सभी कार्यों के लिए राशि उपलब्ध करवाती है| शासन द्वारा कंटिंजेंसी की राशि प्रत्येक स्कूल को दी जाती है| अगर स्कूल प्रशासन चाहे तो उस राशि से साफ-सफाई के लिए एक व्यक्ति नियुक्त कर सकता है| कई बार शिक्षक भी बच्चों को कुछ सामान लेने के लिए या फिर अपना कोई काम करवाने के लिए स्कूल से बाहर भेज देते हैं| अब उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी|

Share.
31