एप्पल का फ़ोन बन जाएगा डिब्बा!

0

दुनियाभर के मोबाइल यूज़र्स एप्पल का फ़ोन इस्तेमाल करते हैं| भारत में भी इस कंपनी के फ़ोन को काफी पसंद किया जाता है| एप्पल के आईफ़ोन काफी महंगे होते हैं, लेकिन जल्द ही आपके कीमती आईफ़ोन महज डिब्बा बनकर रह जाएंगे| ‘ट्राई’ के एक फैसले ने एक बार फिर से टेक्नोलॉजी की दिग्गज कंपनी एप्पल को मुश्किल में डाल दिया है| दरअसल, स्मार्टफ़ोन निर्माता कंपनी एप्पल ने ट्राई की अनचाही कॉल्स रोकने वाले एप ‘पेस्की’ को अपने एप स्टोर में जगह नहीं दी है|

ट्राई ने कई बार एप्पल से इस एप को अपने एप स्टोर में जगह देने को कहा, लेकिन कंपनी ने उपभोक्ताओं के डाटा की सुरक्षा का हवाला देते हुए इसे अपने एप स्टोर में जगह नहीं दी है| सेल्युलर ऑपरेटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) के प्रबंध निदेशक (एमडी) राजन मैथ्यूज ने कहा है कि यदि 6 महीने में कंपनी इस एप को जगह नहीं देती है  तो ट्राई ऑपरेटर्स नेटवर्क पर आईफोन बंद करने का दबाव बना सकता है|

नए नियम से दबाव में सेवा प्रदाता मैथ्यूज ने कहा कि नए नियमों से सेवा प्रदाताओं पर दबाव रहेगा| उन्होंने कहा कि फिलहाल दूरसंचार कंपनियों के लिए लागत बड़ा मुद्दा है, जिस पर विचार-विमर्श चल रहा है| ट्राई ने ब्लॉकचेन तकनीक अपनाने को कहा है, जबकि किसी भी दूरसंचार कंपनी ने अब तक महंगी ब्लॉकचेन तकनीक को अपनाने पर सहमति नहीं दी है|

ऐसा भी हो सकता है कि ट्राई आईफोन की भारत में सर्विस बंद कर दे, जिसके बाद आईफोन में किसी भी भारतीय टेलीकॉम का सिम कार्ड सपोर्ट नहीं करेगा|  फ़िलहाल आपको बता दें कि इससे पहले भी ‘डू नॉट डिस्टर्ब’ एप को लेकर ट्राई और एप्पल आमने-सामने आ चुके हैं|

ये ख़बरें भी पढ़ें… 

ऑर्डर किया आईफ़ोन, निकली साबुन की टिकिया

घोड़े पर सवार होकर आईफ़ोन-एक्स लेने पहुंचा युवक

आईफ़ोन-एक्स का नया एडिशन लॉन्च

Share.