बोतलों में मिलेगी सौर ऊर्जा

0

दुनियाभर में सौर ऊर्जा का उपयोग बड़ी तेज़ी से बढ़ रहा है। सौर ऊर्जा के उत्पादन और संरक्षण के लिए सालों से दुनियाभर में खोज की जा रही है। सौर ऊर्जा प्राकृतिक रूप से निर्मित होती है और पर्यावरण के अनुकूल है इसलिए इसकी मांग तेजी से बढ़ रही है। एक ओर जहां सौर ऊर्जा से पर्यावरण को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता, वहीं दूसरी ओर इसका स्रोत मतलब सूर्य (Solar Thermal Fuels) कभी न ख़त्म होने वाला स्रोत है।

अभी तक सौर ऊर्जा का प्रयोग केवल सूर्य की रोशनी में ही संभव था और सूर्य की रोशनी न होने पर तब इस ऊर्जा का कोई वजूद नहीं था। बिना रोशनी में इसे कैसे उपयोग किया जाए, इसके लिए दुनियाभर में खोज (Solar Thermal Fuels) चल रही थी। इस खोज में सफलता अर्जित करते हुए स्वीडन के रिसर्चर्स ने सौर ऊर्जा को एकत्र कर एक तरह का तरल पदार्थ (fluid) तैयार किया है। इस तरल पदार्थ का इस्तेमाल सूर्य की रोशनी न होने पर किया जा सकता है। इसे निर्मित करने वाले वैज्ञानिकों का दावा है कि यह ईंधन सालों तक सुरक्षित रखा जा सकता है और ज़रूरत पड़ने पर इसे इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस पदार्थ को वैज्ञानिकों ने ‘सोलर थर्मल फ्यूल’ (Solar Thermal Fuels) नाम दिया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यदि सोलर थर्मल फ्यूल का इस्तेमाल सफल हुआ, तब 2050 तक इससे जीवाश्म ईंधन बनाना मुमकिन होगा। इस ईंधन के इस्तेमाल से ग्लोबल वार्मिंग की समस्या भी हल हो जाएगी। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस ईंधन को बैटरी की तरह सूरज की रोशनी में रखकर रिचार्ज कर सकेंगे। हालांकि अभी सोलर थर्मल फ्यूल को ज्यादा दूरी तक पाइप के माध्यम से नहीं भेजा सकता। वैज्ञानिक इस पर कार्य कर रहे हैं। आने वाले समय में सौर ऊर्जा का प्रयोग अन्य फ्यूल की तरह सुरक्षित रूप से किया जा सकेगा।

8 लाख की गाड़ी देखने पहुंच रहे लोग

Oppo A3s दाम हुए कम

2019 में आ रही हैं टाटा की दमदार कारें

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.