पेटीएम ने लगाया यूज़र्स का डेटा बेचने का आरोप

0

ई – कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी अमेज़न पर ग्राहकों का निजी डाटा बेचने का आरोप लगा था। अब देश की सबसे बड़ी पेमेंट कंपनी पेटीएम ने वॉट्सएप के बाद अब गूगल पर यूज़र्स का डेटा शेयर करने का आरोप लगाया है। डिजिटल पेमेंट की सेवाएं देने पेटीएम ने गूगल पे को लेकर नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में शिकायत की है कि गूगल अपने ग्राहकों का पेमेंट डेटा कई कंपनियों और थर्ड पार्टी सर्विस प्रोवाइडर्स को बेच रही है।

पेटीएम द्वारा लिखे गए इस खत में शिकायत की गई है कि गूगल की पॉलिसी के अनुसार, कंपनी भारतीय ग्राहकों का पेमेंट डेटा अपने एडवर्टाइजमेंट बिजनेस के लिए इस्तेमाल कर रही है और कई कंपनियों व थर्ड पार्टी को भी दे रही है, जो ग्राहकों की प्राइवेसी के खिलाफ है।  पेटीएम का आरोप है कि गूगल की प्राइवेसी पॉलिसी में कई तरह की परेशानी है, जिससे भारतीय कस्टमर का पेमेंट डेटा गूगल एफिलिएट कंपनी और थर्ड पार्टी यूज़र्स को मिल रहा है। खत में यह भी कहा गया है कि गूगल की प्राइवेसी पॉलिसी के अनुसार, कंपनी विज्ञापन और प्रमोशन के लिए यूज़र्स का पर्सनल डेटा कलेक्ट करती है, स्टोर करती है, उसका इस्तेमाल करती है और उसे डिसक्लोज़ भी करती है।

गौरतलब है कि एनपीसीआई के अनुसार, किसी भी पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर को यह अनुमति नहीं है कि वह यूज़र्स का डेटा किसी थर्ड पार्टी से साझा करे, जब तक कि उसे कानूनी तौर पर निर्देश न दिया गया हो या फिर किसी सांविधिक प्राधिकारी के सामने पेश करने की ज़रूरत न हो। इसके अलावा आरबीआई ने भी इस मामले में गाइडलाइन जारी कर सभी पेमेंट सिस्टम ऑपरेटर्स को यूज़र्स का डेटा देश के भीतर ही स्टोर करने की बात कही थी।

Share.