website counter widget

गूगल ने किया प्राइवेसी में बदलाव, डिलीट होगा पुराना डाटा

0

गूगल ने अपने उपभोक्ताओं की सुरक्षा के लिए अपने प्राइवेसी कंट्रोल सिस्टम में बदलाव किया है। दुनियाभर की तमाम प्रौद्योगिकी कंपनियों पर प्राइवेसी से संबंधित दवाब डाले जाने के दौरान गूगल ने भी अपने उपभोक्ताओं की सुरक्षा के  लिए नए टूल्स का एलान किया है। पिछले माह ही गूगल द्वारा अपने उपभोक्ताओं की लोकेशन हिस्ट्री और वेब तथा एप एक्टिविटी की सभी जानकियों को सुरक्षित रखने के लिए समय सीमा निर्धारित की गई थी। गूगल ने इस समय सीमा को तीन माह से लेकर 18 माह तक के बीच चुनने की आजादी अपने उपभोक्ताओं को दी थी।

सेकंड हैंड कार प्लान कर रहे हैं तो यह ख़बर पढ़ें

इस नई सुविधा के बारे में जानकारी देते हुए गूगल के प्राइवेसी और डाटा प्रोटेक्शन दफ्तर के प्रोडक्ट मैनेजमेंट निदेशक एरिक मिराग्लिया (Eric Miraglia) ने कहा, “इसे चुनने पर आपके अकाउंट में इस समय सीमा से पुरानी कोई भी जानकारी अपने आप और लगातार डिलीट होती जाएगी।” गौरतलब है कि बीती 7 मई से यह सुविधा शुरू की गई है। गूगल ने अपने उपभोक्ताओं के लिए अपने वेब और ऐप पर इस सुविधा को शुरू कर दिया है। वहीं अब गूगल अपने गूगल मैप्स लोकेशन हिस्ट्री के लिए अगले माह से यह सुविधा शुरू करेगा।

Toreto Blare Pro : वायरलेस ब्ल्यूटुथ हेडसेट ‘ब्लेअर प्रो’ लांच

इस नई सुविधा के बाद गूगल उपभोक्ता जीमेल (Gmail), ड्राइव (Drive), कॉन्टैक्ट्स (Conatacts) और पे (Pay) जैसे प्रोडक्ट्स में अपनी प्रोफाइल पिक्चर ऐप के ऊपरी हिस्से में दाईं तरफ देख सकेंगे। वहीं अपनी प्राइवेसी को नियंत्रित करने के लिए उपभोक्ताओं को अपनी प्रोफाइल पिक्चर पर क्लिक करके लिंक को फॉलो करना होगा। इस बारे में बताते हुए मिराग्लिया ने कहा, “अपने प्राइवेसी कंट्रोल को एक्सेस करने के लिए, आपको अपनी प्रोफाइल पिक्चर पर टैप करना होगा और अपने गूगल अकाउंट के लिंक को फॉलो करना होगा।”

इसके अलावा उन्होंने कहा, “आप गूगल मैप्स में अपने लोकेशन एक्टिविटी से संबंधित जानकारी की समीक्षा कर उसे डिलीट भी कर सकेंगे।” गौरतलब है कि गूगल इस नई सुविधा को अगले महीने सर्च, मैप्स, यूट्यूब, क्रोम, असिस्टेंट और न्यूज में भी लाने जा रहा है।

भारत का पहला स्टीम ओवन हुआ लांच

 

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.