Maruti Suzuki Ignis के लिए बुरी ख़बर

0

ग्लोबल NCAP ने मेड इन इंडिया मारुति सुज़ुकी इग्निस (Maruti Suzuki Ignis ) का के क्रैश टेस्ट में 3-स्टार रेटिंग दी है| वयस्कों के सुरक्षा के लिहाज़ से कार को यह 3-स्टार रेटिंग दी गई है और इग्निस को भी 64 किमी/घंटा की रफ्तार से टक्कर कर जांच में इसे यह रेटिंग दी गई| ग्लोबल NCAP ने कार को टक्कर के बाद कमज़ोर पाया है और दुर्घटना के वक्त सीने पर चोल लगने की ज़्यादा संभावना जताई गई | जिस इग्निस का क्रैश टेस्ट हुआ है वह सामान्य तौर पर डुअल एयरबैग्स और एबीएस के साथ बाजार में है|

रॉयल एनफील्ड पर पेटेंट चुराने के आरोप में मुकदमा दर्ज

यह कार मारुति सुज़ुकी इग्निस (Maruti Suzuki Ignis ) का अफ्रीकी स्पेसिफिकेशन मॉडल है और भारत में सामान्य रूप से डुअल एयरबैग्स, एबीएस के साथ ईबीडी, सीटबेल्ट प्री-टेंशनर के साथ फोर्स लिमिटर्स और आईसोफिक्स चाइल्ड सीट माउंट के साथ रिवर्स पार्किंग सेंसर्स, को-ड्राइवर सीटबेल्ट रिमाइंडर और हाई-स्पीड अलर्ट सिस्टम जैसे सेफ्टी फीचर्स के साथ बेचीं जाती है| बावजूद इन फीचर्स के ग्लोबल NCAP क्रैश टेस्ट में कार को खराब सेफ्टी रेटिंग से संतोष करना पड़ा | मारुति सुज़ुकी इग्निस के 2019 मॉडल को कुछ समय पहले ही लॉन्च किया गया है जिसकी दिल्ली में शुरुआती कीमत 4.79 लाख रुपए है और टॉप मॉडल के लिए यह कीमत 7.14 लाख रुपए तक जाती है.

लांच से पहले Activa 5G लिमिटेड एडिशन का खुला राज़


भारत में इग्निस (Maruti Suzuki Ignis ) सिर्फ पेट्रोल इंजन के साथ आती है जिसे 5-स्पीड मैन्युअल और एएमटी गियरबॉक्स से लैस किया गया है| बच्चों की सुरक्षा के लिहाज़ से कार को और कम रेटिंग मिली | सुजुकी ने बच्चों की सुरक्षा के लिए टेस्ट ना करने की सलाह दी थी वहीँ ग्लोबल NCAP का मानना है कि सभी प्रकार के यात्रियों की सुरक्षा का जिम्मा कंपनी का होता है, ऐसे में इसीलिए हमेशा इस टेस्ट में बच्चों की सुरक्षा को लेकर टेस्ट किया जाना अनिवार्य है|बता दें की ऑटो जगत में इन दिनों सुरक्षा और पर्यावरण के मानकों के लिहाज से कंपनियों को कसौटयों पर तौला जा रहा है और फ़ैल होने पर प्रोडक्ट रिजेक्ट तक किये जा रहे है|

Toyota Glanza के बारें में जानिए सब कुछ

मारुति सुजुकी की बलेनो (BALENO) का बदला

Share.