महिंद्रा-फोर्ड में हुआ करार दोनों मिलकर करेंगे कारोबार

0

नई दिल्ली: भारत की दिग्गज ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा(Mahindra and mahindra) ने फोर्ड इंडिया कंपनी(Ford india) में 51 फीसद इक्विटी खरीदने का ऐलान किया है।शेष 49 फीसदी हिस्सेदारी फोर्ड मोटर कंपनी या इसकी किसी सहयोगी इकाई के पास होगी। इस अधिग्रहण के जरिये फोर्ड के भारत में ऑटोमोटिव बिजनेस पर महिंद्रा को नियंत्रण मिलेगा। दोनों कंपनियों का संयुक्त उद्यम(Ford and mahindra joint venture) अब फोर्ड के भारतीय बिजनेस को संभालेगा। यह संयुक्त उद्यम फोर्ड और महिंद्रा दोनों ब्रांड से वाहनों की बिक्री करेगा। दोनों कंपनियां 1925 करोड़ रुपये के निवेश से संयुक्त उपक्रम (JV) बनाएंगी. यह जेवी अमेरिकी ऑटो कंपनी फोर्ड के उत्पादों को भारत में विकसित करेगी और उसकी मार्केटिंग और वितरण करेगी।

Maruti S-Presso मिनी एसयूवी हुई लांच, सिर्फ इतनी है कीमत

जानकारी के अनुसार 2017 में दोनों कंपनियों फोर्ड और महिंद्रा के बीच रणनीतिक साझेदारी को लेकर एक करारा हुआ था। और यह कदम उसी साझेदारी के करार का हिस्सा है। यदि सभी प्रक्रिया समय से होती है. तो नया जेवी 2020 के मध्य से भारत में काम करना शुरू कर देगा। इसकी प्रमुख जिम्मेदारी भारत में फोर्ड के ब्रांड को विकसित करना और उसकी वैश्विक भागीदारी में वृद्धि करना होगा। फोर्ड ब्रांड पर फोर्ड मोटर का ही स्वामित्व रहेगा। जबकि महिंद्रा ब्रांड का स्वामित्व महिंद्रा एंड महिंद्रा के पास रहेगा। महिंद्रा का डीलर नेटवर्क भी पहले की तरह स्वतंत्र रूप से काम करता रहेगा।

सिर्फ 199 रुपए में Moto E6s स्मार्टफोन खरीदना का मौका

इस करार पर अपनी बात रखते हुए महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा, ‘महिंद्रा और फोर्ड का साथ आना दोनों कंपनियों के बीच आपसी सहयोग और परस्पर सम्मान के लंबे इतिहास का परिचायक है। हमारी संयुक्त ताकत जिसमें महिंद्रा की इंजीनियरिंग विशेषज्ञता और फोर्ड की टेक्निकल विशेषज्ञता शामिल है, सफलता की रेसिपी साबित होगी।’महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका के अनुसार, ‘दोनों कंपनियों का संयुक्त उद्यम अपने वाहनों को भारत में सफलतापूर्वक स्थापित तो करेगा ही बल्कि प्रतिस्पर्धी उभरते बाजारों की संभावनाओं का लाभ भी उठाएगा।

LG G8s ThinQ स्मार्टफोन इस ख़ास फीचर के साथ हुआ लांच

-Mradul tripathi

Share.