website counter widget

कोहरे में इस तरह करें ड्राइविंग, कभी नहीं होगा हादसा

0

सर्दियों के मौसम की शुरुआत हो चुकी है। सर्दियों के मौसम में कोहरे की वजह से सड़क हादसों की संख्या में वृद्धि हो जाती है। धुंध की वजह से अक्सर लोग हादसों का शिकार हो जाते हैं और कई बार लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ जाती है। वैसे देखा जाए तो देश में सबसे ज्यादा कोहरा (Tips For Driving In Fog) राजधानी दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों में होता है। इन्हीं राज्यों में सड़क हादसों की संख्या में अचानक वृद्धि हो जाती है। सर्दियों में होने वाले कोहरे को तो कम नहीं किया जा सकता है लेकिन कुछ सावधानियां रखकर हादसों पर जरूर थोड़ा अंकुश लगया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं उन्हीं सावधानियों के बारे में।

Royal Enfield भी उतारने जा रही है इलेक्ट्रिक बाइक

घने कोहरे और धुंध में कभी भी अपने वाहन को हाई-बीम पर नहीं चलाना चाहिए। कोहरे में हाई-बीम को दुघटना की प्रमुख वजह माना जाता है। वैसे तेजी से एडवांस होती टेक्नोलॉजी में आजकल वाहनों में फॉग लैंप दिए जाते हैं। दरअसल धुंध की वजह से विजिबिलिटी कम हो जाती है (Tips For Driving In Fog)। लेकिन आजकल अधिकतर वाहनों के टॉप वेरिएंट में फॉग लैंप के साथ पीछे की विंडशील्ड पर डीफॉगर भी दिया रहता है। वहीं यदि आपकी गाड़ी कोहरे में बीच रास्ते में खराब हो जाए तो उसे किनारे खड़ी कर उसके इंडिकेटर्स ऑन कर आप हादसे की संभावना को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

रॉयल एनफील्ड बंद कर रहा है बुलेट समेत ये बाइक्स

वहीं यदि आप कोहरे में अपने वाहन को हाई-बीम पर चलते हैं तो यह सामने से आ रहे वाहन के लिए भी काफी खतरनाक साबित हो सकता है। दरअसल हाई-बीम की वजह से सामने से आ रहे वाहन चालाक को परेशानी हो सकती है क्योंकि सीधी लाइट उसकी आंखों चुभती है और लाइट के अलावा उसे आस-पास की चीज़ दिखाई नहीं देती। लिहाज़ा वाहन दुर्घटना का शिकार हो सकता है।

जब भी आप कोहरे में वाहन चलाएं तो इस बात का विशेष ध्यान रखने कि हाई-बीम पर वाहन चलाते पकड़े जाने पर भारी-भरकम चालान भरना पड़ सकता है। इसके अलावा कोहरे में कभी भी तेज रफ़्तार में वाहन न चलाएं। जिस लेन पर आप ड्राइविंग कर रहे हैं तो उसी लेन पर ड्राइविंग करें। बार-बार लेन बदलना भी हादसों को न्योता देना है।

BS-VI Jawa Perak : बुलेट को टक्कर देने आ गई जावा पेराक

कोहरे में कई लोग हैजार्ड लाइट (दोनों इंडीकेटर ऑन) कर ड्राइविंग करते हैं जो बेहद ही खतरनाक साबित हो सकता है। हैजार्ड लैम्प का इस्तेमाल तभी करें जब आपकी गाड़ी खड़ी हो। क्योंकि यदि आप इस तरह ड्राइविंग करते हैं तो टर्न लेते वक़्त या फिर लेन बदलते वक़्त हादसा हो सकता है।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.