अब मिलेगी कार के माइलेज की सही जानकारी

0

देश भर में सभी वाहन निर्माता कंपनियों के लिए नए सुरक्षा मानक अनिवार्य कर दिए गए हैं। अब सरकार चार पहिया वाहनों के सटीक माइलेज के लिए कूलिंग एक्शन प्लान (Cooling Action Plan) लागू करने जा रही है। दरअसल अभी तक वाहन निर्माता कंपनियां कारों या वाहनों का प्रति किलोमीटर ईधन की खपत (Fuel Consumption) का जो आंकड़ा तैयार करती हैं, वह एसी (AC) को बंद करके तैयार किया जाता है। जबकि कुछ महीनों को छोड़कर कारों में लगातार AC चलाया जाता है। मंत्रालय का कहना है कि ऐसे में वाहनों में ईंधन (Fuel in vehicles) की खपत की सही जानकारी ग्राहकों को नहीं मिल पाती। अब आने वाले समय में कारों में ईधन की खपत की जांच AC को ऑन रखकर ही की जाएगी।

बिना बिजली के चलता है यह कूलर, बिल से मिलेगा छुटकारा

वन एवं पर्यावरण मंत्रालय (Ministry of Forest and Environment) की तरफ से एक प्रस्ताव पेश किया गया है। इस प्रस्ताव में सिफारिश की गई है कि वाहन निर्माता कंपनियां अपने कारों का माइलेज AC को चालू रखकर ही टेस्ट करेंगे। इन्ही आंकड़ों के अनुसार वे माइलेज का दावा कर पाएंगे। मंत्रालय का कहना है कि इस वजह से वाहन निर्माता कंपनियों (Automobile manufacturers) पर माइलेज में सुधार लाने का दबाव पड़ेगा। इस वजह से कंपनियां इस तरफ नई तकनीक अपनाएंगी और अपने वाहनों के माइलेज में सुधार करेंगी। माइलेज अच्छा होने से ग्राहकों को काफी फायदा होगा और वाहन मालिकों की बचत भी होगी।

भूल गए हैं पैटर्न लॉक तो घबराएं नहीं अपनाएं यह तरीका

वन एवं पर्यावरण मंत्रालय (Ministry of Forest and Environment) की इस सिफारिश पर सरकार (Governement) भी गंभीर है। अभी तक वाहन निर्माता कंपनियां अपने वाहनों से होने वाले उत्सर्जन का सही आंकड़ा देने से बच जाती हैं। लेकिन इस नियम के लागू हो जाने के बाद से उपभोक्ताओं को भी वाहन के सही माइलेज के बारे में जानकारी मिलेगी। और सभी माइलेज टेस्टिंग कंपनियों (Vehicle Mileage Testing Companies) को वाहन का AC चालू रख कर ही माइलेज टेस्ट करना होगा। इसके लिए पर्यावरण मंत्रालय द्वारा कूलिंग एक्शन प्लान (Cooling action plan) तैयार किया गया है। मंत्रालय ने ऊर्जा की खपत में कमी लाने के लिए इस प्लान को तैयार किया है। आने वाले कुछ समय में सरकार द्वारा यह नियम अधिसूचित किया जा सकता है।

पहला BS-6 वाहन लांच करने जा रही Honda

Share.