Talented View : मोदी नहीं राहुल गांधी हैं असली फ़क़ीर

0

प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) ने एक बार कहा था कि वो फ़क़ीर हैं, एक दिन झोला उठाकर चल देंगे। मोदी (PM Modi)  गृहस्थ जीवन त्यागी एक संत हैं इसमें कोई संदेह नहीं है। लेकिन राहुल गांधी (Talented View On Rahul Gandhi) को देखकर कभी-कभी लगता है कि बंदा ये भी कुछ कम नही है। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की हरकतें भी अक्सर फ़क़ीर की तरह ही लगती हैं। जब भी कांग्रेस (Congress) कोई चुनाव हारती है गांधीजी तुरन्त विदेश भाग जातें हैं। इधर बेचारे कांग्रेस प्रवक्ता समझ नही पाते कि पार्टी की हार को डिफेंड करें या राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के विदेश प्रस्थान को?

Rahul Gandhi Resignation : अध्यक्ष पद छोड़ने पर अड़े राहुल गांधी

बंदा, चाहे जब भारत (Talented View On Rahul Gandhi) की सबसे पुरानी पार्टी का अध्यक्ष बन जाता है, तो चाहे जब झोला उठाकर त्यागपत्र भी दे देता है। पार्टीलाइन की भी राहुल कभी चिंता नही करते। जो मन मे आए वही बोल डालते हैं। कांग्रेस पार्टी वाले भी समझ नही पाते कि इस ‘अलादीन के चिराग’ का आखिर क्या किया जाए? क्योंकि चुनाव प्रचार के जोश में राहुल अक्सर वो कह जातें हैं जिससे कांग्रेस के वोट तो नही बढ़ते लेकिन कांग्रेस का वोटर सिर जरूर पकड़ लेता है। बंदे को अपनी कही बातों की भी फिक्र नही होती। इस्तीफा देते समय राहुल ने कहा था अगला अध्यक्ष गांधी परिवार का नही होगा लेकिन उसके बाद उनकी माताजी सोनिया गांधी (Soniya Gandhi) को ही अध्यक्ष बना दिया गया।

Rahul Gandhi Birthday : राहुल गांधी को पीएम मोदी ने ख़ास अंदाज में दी जन्मदिन की बधाई

लेकिन अपनी बात के झूठ साबित होने पर भी उनकी ‘फकीरी’ में कोई अंतर नही आया। हर चुनाव के क्लाइमेक्स से पहले राहुल (Talented View On Rahul Gandhi) एंट्री लेतें हैं और ये पक्का कर जातें हैं कि कांग्रेस गलती से भी कहीं जीत के आसपास न पहुंच जाए। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) हर चुनाव प्रचार में ऐसी ‘नो बॉल’ जरूर फेंक देते हैं जिस पर भाजपा को ‘फ्री हिट’ (Free Hit) मिल जाता है। इस फ्री हिट को भुनाने के लिए भाजपा (BJP) भी अपने सबसे बड़े बल्लेबाज़ को मैदान में उतारती है और वो बड़ी आसानी से इस पर छक्का जड़ देतें है।

कांग्रेस (Congress) के फील्डर्स गेंद अपने सर के ऊपर से जाते हुए चुपचाप देखने को मजबूर हो जातें हैं। कांग्रेस (Congress) नेता भी सोचते होंगे कि हमारी ही किस्मत में ऐसा नेता क्यों लिखा है? दिल्ली के चुनाव में जहां कांग्रेस का पहले ही खाता खुलना मुश्किल है वहां भी राहुल गांधी (Talented View On Rahul Gandhi) ने प्रधानमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करके अपनी और अपनी पार्टी को असहज हालत में डाल दिया।

दिल्ली में कांग्रेस (Congress) का वोट शेयर जो गिर गया है (Talented View On Rahul Gandhi) उसकी वजह भाजपा (BJP) नही बल्कि आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) है। इससे पहले के चुनाव में कांग्रेस का एक बड़ा वोट शेयर आम आदमी पार्टी के पाले में चला गया। उसी का परिणाम निकला कि कांग्रेस (Congress)  शून्य पर पहुंच गई। लेकिन उसके बाद भी दिल्ली चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) प्रचार में राहुल गांधी ने एक शब्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के खिलाफ नही बोला। उनका पूरा फोकस प्रधानमंत्री पर निजी हमले करने में ही लगा रहा।

इस बात पर प्रमोद कृष्णन (Pramod Krishnan) जैसे खुद कांग्रेस (Congress) के नेताओ ने भी ताज़्ज़ुब जताया। उन्होंने पूछा कि कांग्रेस का ज़मीनी कार्यकर्ता कन्फ्यूज़ है या राहुल गांधी (Talented View On Rahul Gandhi) ? लेकिन फ़कीरी इसे ही तो कहते हैं कि अपने मन की ही की जाए। पार्टी कल डूबती हो तो आज डूबे। मोदीजी भले अपने आप को फ़क़ीर कह लें लेकिन ऐसी फकीरी राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के चरित्र में ही देखने को मिलती है। राहुल (Rahul Gandhi) की ये फकीरी कांग्रेस पार्टी को कितनी जल्दी फ़क़ीर बनाती है ये देखना दिलचस्प रहने वाला है।

Rahul Gandhi Press Conference LIVE Video : पीएम मोदी को राहुल का करारा जवाब

Sachin Pauranik

Share.