Talented View : कांग्रेस ने उम्मीदों से उलट फिर अजय राय को मैदान में उतारा

0

अपनी चुनावी यात्रा में कांग्रेस के लिए वोट मांगती प्रियंका वाड्रा कुछ दिन पहले बनारस पहुंची थीं। अस्सी घाट पर उनके स्वागत के लिए कुल जमा 300 लोग भी नहीं पहुंचे थे, लेकिन फिर भी प्रियंका ने हिम्मत नहीं हारी और अपना प्रचार अभियान जारी रखा। प्रियंका पूर्वांचल के हर मंच से यह दावा करती रहीं कि इस बार कोई मोदी लहर नहीं है। उन्होंने दावा किया कि वे खुद बनारस से मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने को तैयार हैं। उनकी बात में आत्मविश्वास झलक रहा था और सभी यह उम्मीद कर रहे थे कि शायद प्रियंका बनारस से पर्चा दाखिल कर भी दे, लेकिन उम्मीदों से उलट कांग्रेस ने एक बार फिर अजय राय को चुनावी मैदान में उतार दिया।

Talented View : राजनीति के इस हमाम में सभी नंगे…

कल बनारस ने जो स्वागत देखा, जो जनसैलाब देखा, जो उत्सव देखा, जो अभिनंदन देखा, जो भावनाओं का समुंदर देखा, उसे देखकर प्रियंका को यकीन हो गया होगा कि उन्हें बनारस से नहीं लड़ाने का पार्टी का फैसला बिल्कुल सही था। बनारस ने कल प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत में पलक-पावड़े बिछा दिए। पूरे बनारस में जहां देखो वहीं मोदी-मोदी दिखाई और सुनाई दे रहे थे। पूरे शहर की सड़कें फूलों से पाट दी गई थीं। जनता का उत्साह इतना ज्यादा था कि चंद किलोमीटर के फासले को तय करने में मोदी को घंटों लग गए।  आज मोदी बनारस से नामांकन दाखिल कर रहे हैं। कल बनारस में उनका रोड शो था।

बनारसवासियों का कहना है कि शहर का ऐसा रूप उन्होंने कभी नहीं देखा। बाबा विश्वनाथ के शहर में किसी नेता का ऐसा स्वागत होना ऐतिहासिक पल है। गौर करने वाली बात है कि यह जनता किसी आश्वासन या बहकावे में आकर इकट्ठी नहीं हुई है। अपने सांसद और प्रधानमंत्री के बीते 5 सालों के कामों पर मुहर लगाने के लिए बनारसवासी कल इकट्ठा हुए थे। अपने शहर की उम्मीदों और सपनों पर साफ नीयत और परिश्रम पर मोहर लगाने को यह जनता सड़कों पर उमड़ी थी। इस सैलाब को देखकर कांग्रेस सहित महागठबंधन की पूर्वांचल फतह की उम्मीदें मिट्टी में मिल गईं, लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस के कर्ता-धर्ता इसलिए खुश हो रहे हैं क्योंकि अपनी राजकुमारी की इज्जत बचा पाने में वे सफल हुए हैं।

Talented View : मोदी को हराने के लिए ज़मीन से जुड़ा नेता चाहिए

यदि प्रियंका जोश में आकर बनारस से पर्चा दाखिल कर देती तो उनके राजनीतिक जीवन की “भ्रूण हत्या” तय थी। मोदी के खिलाफ प्रियंका या किसी भी अन्य उम्मीद्वार की हार पहले दिन से पक्की थी, लेकिन कल और आज की तस्वीरों को देखकर लगता है कि अब यह लड़ाई सिर्फ जमानत बचाने तक ही सिमट चुकी है। कांग्रेस ने अपने 2014 वाले अजय राय को ही फिर से ‘बलि का बकरा’ बना दिया है, जिन्हें पिछले चुनाव में महज 75 हजार वोट मिले थे।

केज़रीवाल ने ज़रूर मोदी को थोड़ी टक्कर दी थी और वे 2 लाख से ज्यादा वोट पाकर सबसे निकटतम प्रतिद्वंदी बने थे, लेकिन इस बार 2019  में मोदी की टक्कर में कोई है ही नहीं। इसे कांग्रेस और महागठबंधन की महाकमजोरी की समझा जाना चाहिए कि ये सभी मिलकर बनारस से एक ढंग का प्रत्याशी भी मैदान में नहीं उतार सके हैं। बनारस में प्रधानमंत्री मोदी की जीत पक्की है, लेकिन बाकी नेताओं के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं है।

अमेठी से स्मृति ईरानी राहुल को नाकों चने चबवा रही हैं तो आजमगढ़ में ‘निरहुआ’ ने अखिलेश की नाक में दम कर रखा है। डिम्पल यादव का भी कन्नौज जीतना इस बार मुश्किल नज़र आ रहा है। पूरे उत्तरप्रदेश में एक सीट भी ऐसी नहीं बची है, जहां महागठबंधन या कांग्रेस विश्वास से कह दे कि यह सीट हम जीत ही जाएंगे। विपक्ष के नेताओं को संसद में भाजपा पहुंचने ही नहीं देना चाह रही है और ये विपक्ष वाले प्रधानमंत्री के आगे बनारस में नतमस्तक होकर खड़े हैं। प्रधानमंत्री के आगे चुनाव हारना भी गौरव की बात है, लेकिन इस तरह मैदान छोड़कर भागने को भला क्या कहा जा सकता है? 2014 से पहले तक यूपी में एकछत्र राज़ करने वाले सपा और बसपा के लिए भी यह चुनाव अस्तित्व की लड़ाई साबित हो रहा है।

चारों तरफ इस बार यही चर्चा थी कि 2014 जैसी कोई लहर इस चुनाव में नहीं है। बात सही भी नज़र आ रही थी, लेकिन कल और आज के घटनाक्रम के बाद अब लग रहा है कि यह सच नहीं है। इस बार भी लहर है और शायद पिछली बार से बढ़कर है। बनारस से मोदी के नामांकन के बाद अब ये चुनाव एकतरफा होते दिखाई दे रहे हैं। यूपी से इस बार भी चौंकाने वाले परिणाम सामने आएंगे। राहुल गांधी तो फिर भी वायनाड से संसद पहुंच जाएंगे, लेकिन अखिलेश, डिंपल के लिए समस्याएं अनंत है। मोदी लहर में कई नेता इस बार संसद देखने से वंचित होने वाले हैं।

Talented View : …तो “अब की बार फिर मोदी सरकार” तय

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.