website counter widget

Talented View : राहुल यह बात समझें तो कांग्रेस का भला होगा

0

कहीं पहुंचने के लिए रास्ता तय करना पड़ता है। चौराहे पर खड़ा आदमी चारों रास्तों पर कुछ किलोमीटर चलकर वापस वहीं लौट आए तो वह आखिर कहां पहुंचेगा ? मेहनत उतनी ही होगी बल्कि ज्यादा होगी, थकान भी ज्यादा होगी, लेकिन हासिल क्या होगा? कहीं पहुंचने के लिए रास्ता चुनना पड़ता है और फिर उस रास्ते पर, उसी दिशा में चलना भी होता है। मंज़िल हासिल उसे ही होती है, जो सही दिशा में चलता है और बार-बार लौटकर वहीं नहीं आ जाता, जहां से रास्ता शुरू किया था।

Talented View : दूरगामी सोच के साथ मुकाबला करे कांग्रेस

Today Cartoon On Congress Manifesto 2019 :

एक शेर है- “सिर्फ एक गलत कदम उठा था राह-ए-शौक में, मंज़िल तमाम उम्र मुझे ढूंढती रही..”

अब आते हैं मुद्दे पर। कल कांग्रेस ने अपना घोषणा-पत्र जारी कर दिया। लोकलुभावन घोषणाओं से भरपूर, किसानों की हितैषी, बेरोजगारों की हमदर्द और मानव अधिकारों की बड़ी-बड़ी बातें इसमें की गई है। गरीबों को 72 हजार रुपए देने से लेकर बेरोजगारों को रोज़गार देने के भारी-भरकम वादे भी जनता से किए गए हैं किन्तु कुछ बातें इस घोषणा-पत्र में ऐसी कही गई हैं, जिनसे कांग्रेस पार्टी और उसके बड़े नेताओं की नीयत पर संदेह होता है।

घोषणा-पत्र में कहा गया है कि कांग्रेस सत्ता में आती है तो जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को नहीं हटाई जाएगी, कश्मीर में सेना और अर्धसैनिक बलों की तैनाती कम की जाएगी, सशस्त्र बल विशेष अधिकार कानून यानी अफ्सपा को हटाया जाएगा और देशद्रोह के कानून को भी खत्म किया जाएगा। ये बातें ऐसी हैं, जिनसे कांग्रेस एक वर्ग विशेष के वोटों को आकर्षित करना चाहती है, लेकिन इससे बाकी देश के सामने कांग्रेस की छवि ‘देश विरोधी’ बन जाती है।

Talented View : जिसको सभी ने नकारा, उसने ‘आप’ को नकारा…

घोषणा-पत्र देखकर लगता है कि कांग्रेस इस समय ‘आइडेंटिटी क्राइसिस’ अर्थात पहचान के संकट के दौर से गुज़र रही है। कांग्रेस के नेताओं को यह पता ही नहीं है कि पार्टी को किस राह पर आगे बढ़ाना है? पार्टी के प्रवक्ता कभी यह कहते पाए जाते हैं कि राममंदिर के ताले राजीव गांधी ने खुलवाए तो कभी कोर्ट में हलफनामा देकर भगवान राम के अस्तित्व को ही नकार देते हैं। कभी सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग लेते हैं तो कभी कहते हैं कि हमने भी कई बार सर्जिकल स्ट्राइक की थी| कभी ये चाय-पकोड़े बेचने को रोजगार बताने पर सरकार का मज़ाक बनाते हैं तो खुद घोषणा-पत्र में 100 दिन गड्ढे खुदवाने के रोज़गार देने को बड़ी उपलब्धि बतलाते हैं। मंदिर जाने वाले लड़की छेड़ते हैं, ऐसा कहने वाले राहुल गांधी खुद चुनावी मौसम में मंदिरों में मत्था टेकते घूम रहे हैं।

कांग्रेस के नेता आज के दौर में दिग्भ्रमित हो चुके हैं। उन्हें खबर ही नहीं है कि वे अपनी जगहंसाई खुद करवा रहे हैं। देशद्रोह जैसे कानून को खत्म करने की बात करने वाली कांग्रेस को देश से प्यार करने वाला कोई वोट दे सकता है ?  यदि कोई भारत के टुकड़े होने और बर्बादी के नारे खुलेआम लगाएगा तो देश क्या इसे चुपचाप सुनता रहे? अफ्सपा हटाने का क्या आधार है कांग्रेस के पास ? कश्मीरी पत्थरबाज़ अफ्सपा होने के बाद भी हमारे जवानों पर हमला कर रहे हैं। अफ्सपा हटाने के बाद क्या ग्यारंटी है कि ये पत्थरबाज़ पत्थर छोड़कर एके-47 नहीं उठा लेंगे? कश्मीर में सेना की तैनाती कम करने और धारा 370 को जारी रखने से देश का कैसे फायदा हो सकता है, यह भी किसी की समझ नहीं आ रहा है।

राहुल गांधी को एक बार रुककर यह सोचना चाहिए कि उनके घोषणा-पत्र में कही गई इन बातों का आधार क्या है? कांग्रेस को देश से प्यार करने वालों के वोट चाहिए या फिर देश की बर्बादी के ख्वाब देखने वालों के ? राहुल गांधी सभी वर्गों को खुश करने के चक्कर में अपनी ही भद्द पिटवा रहे हैं। एक लोकप्रिय नेता का विज़न बिल्कुल स्पष्ट होना चाहिए, लेकिन राहुल गांधी अपने आप में उलझे और जनता के मुद्दों से कटे नज़र आते हैं। अपने नेता की ऐसी लुंजपुंज छवि के साथ यदि कांग्रेस सोचती है कि वह जनता को अपने पक्ष में कर लेगी तो यह उनकी भूल है।

Talented View : भारतीय मतदाता का अंतर्द्वंद्व

राहुल गांधी को यह आसान सी बात समझना चाहिए कि 15-15 फ़ीट के 20 गड्ढे खोदने से किसी में भी पानी नहीं निकलेगा। एक ही जगह यदि 250 फ़ीट खोदेंगे, तब ज़रूर पानी की संभावना हो सकती है। ऐसे ही राहुल एक बार कहीं जाते हैं, फिर लौटकर उसी चौराहे पर आ जाते हैं। इसके बाद फिर दूसरी दिशा में जाएंगे फिर लौटकर वहीं आएंगे तो वे कहीं नहीं पहुंचने वाले। ऐसा करके वो सिर्फ अपने वक्त को ज़ाया कर रहे है और थक रहे हैं। इसके अलावा ऐसी उल-जुलूल घोषणाएं करने से भारत में नहीं, लेकिन पाकिस्तान में राहुल के प्रति सद्भावना ज़रूर बढ़ेगी, लेकिन चुनाव में वोट तो भारत की जनता को ही देना है। राहुल बाबा यह बात समझ जाएं तो कांग्रेस का कुछ भला हो जाए।

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.