website counter widget

Talented View : नमो-नमो

0

प्रधानमंत्री मोदी के अमेरिका में होने वाले कार्यक्रम “हाउडी मोदी” की चर्चा लगातार चल रही है। राष्ट्रपति ट्रम्प के भी इस कार्यक्रम में शामिल होने की खबर के बाद से ये खबर अंतरराष्ट्रीय सुर्खियां बन चुकी है। ट्रम्प और मोदी की ये इस साल तीसरी मुलाकात होगी। मोदी और ट्रम्प के फिर एक मंच पर साथ आने के मायने अंतरराष्ट्रीय कूटनीतीक समीकरणों को प्रभावित करने वाले होंगे। लेकिन इसके साथ ही जनता ये भी सोच रही है कि ये ‘हाउडी’ होता क्या है?

हाउडी शब्द का प्रयोग ‘आप कैसे है’ जानने के लिए किया जाता है। हाउडी का मतलब है ‘हाऊ डू यु डू?’ अर्थात हाउडी ‘हाऊ डू यु डू’ का संक्षिप्त शब्द है। दक्षिण पश्चिम अमेरिका में आमतौर पर अभिवादन के लिए इसी शब्द का प्रयोग किया जाता है। इसी वजह से प्रधानमंत्री मोदी के ह्यूस्टन में होने वाले कार्यक्रम को ‘हाउडी मोदी’ नाम दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम ने करीब 50 हजार जनता उपस्थित रहने वाली है। अमेरिका के हिसाब से आंकड़ा रिकॉर्ड संख्या का है।

अमेरिकी भारतीयों में मोदी की लोकप्रियता सबसे ज्यादा है। यही वजह है कि ट्रम्प भी इस जलसे का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे। गौरतलब है कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने पिछले चुनावी प्रचार में भारत की तर्ज़ पर ‘अबकी बार ट्रम्प सरकार’ का नारा दिया था। साथ ही ये भी कहा था कि ट्रम्प राष्ट्रपति बनतें है तो भारतीयों का एक सच्चा दोस्त “व्हाइट हाउस” में होगा। अगले साल अमेरिका में राष्ट्रपति के चुनाव होने है और ये भी एक वजह है कि ट्रम्प हाउडी मोदी में प्रधानमंत्री के साथ होंगे।

दो शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों के साथ की तस्वीरें दुनिया मे भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती की नई इबारत लिखेंगी। अंतरराष्ट्रीय नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी का दोस्ताना जगजाहिर है। उनकी इस केमिस्ट्री का फायदा भारत को हर मौके पर मिलता है। इसी केमिस्ट्री का परिणाम है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को इस्लामिक राष्ट्रों ने ही समझाया है कि नरेंद्र मोदी के बारे में वो सम्मान से बात करे। ये एक बड़ी उपलब्धि है कि इस्लामिक देश इतिहास में पहली बार पाकिस्तान की बजाय भारत के साथ खड़े है।

आज प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन है। गुजरात के सरदार सरोवर बांध से माँ नर्मदा की आराधना करके मोदी ने अपने दिन की शुरुवात की है। आज वो अपनी माँ का आशीर्वाद लेने भी जाएंगे। दुनिया भर से प्रधानमंत्री को जन्मदिन की बधाइयां दी जा रही है। 69 साल के मोदी की ऊर्जा युवाओं को भी लज्जित करने वाली है। बिना थके, बिना ठहरे, बिना विश्राम के जिस तरह वो काम करतें है ये युवाओं के लिए प्रेरणा है।

पाकिस्तान, चीन जैसे दुश्मनों को उनकी ही भाषा मे जवाब देने वाले, हिंदी और हिंदुस्तान को समूचे विश्व मे गौरव दिलवाने वाले नरेंद्र मोदी को हमारी तरफ से भी जन्मदिन की शुभकामनाएं। उनके नेतृत्व में भारत विश्वशक्ति बने, विश्वगुरु बने और अखण्ड भारत का निर्माण हो, यही कामना है।

-सचिन पौराणिक

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.