website counter widget

Talented View : दूरगामी सोच के साथ मुकाबला करे कांग्रेस

0

फ़िल्म ‘सरकार’ (Sarkar Movie) में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) का एक डायलॉग था कि ”नज़दीक का फायदा देखने से पहले दूर का नुकसान सोच लेना चाहिए।” यह बात भारतीय राजनीति के संदर्भ में बिल्कुल फिट बैठती है। दूरदर्शिता राजनीति में कामयाबी का पहला सूत्र है। अपने समय से आगे की सोचना और अपने आप को इस सोच के साथ ढालना बहुत ज़रूरी है। नज़दीक के फायदे के लिए दूर के नुकसान को नज़रअंदाज़ करना यहां अक्सर दुख दे जाता है। राजनीति के वर्तमान परिदृश्य को देखा जाए तो सरकार का यह डायलॉग सार्थक होता नज़र आता है।

Talented View : जिसको सभी ने नकारा, उसने ‘आप’ को नकारा…

Today Cartoon On BJP Namo TV Channel :

2014  के चुनाव के पहले किसी ने सोचा नहीं था कि नरेंद्र मोदी को स्पष्ट बहुमत मिलेगा। उनके प्रधानमंत्री बनने की बातें सिर्फ सोशल मीडिया पर की जाती थी। भाजपा ने उस वक्त सोशल मीडिया की ताकत को समझा और उसे बहुत अच्छे से भुनाया। नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में सोशल मीडिया का बड़ा योगदान है, इस बात को कोई नकार नहीं सकता है। कांग्रेस सहित बाकी दल सोशल मीडिया पर कहीं नज़र नहीं आते थे। कांग्रेस यही सोचती थी कि सोशल मीडिया से कुछ नहीं होने वाला।

खैर, 2014 के नतीजे आने के बाद सभी दल यह समझ गए कि पार्टी और नेताओं की सोशल मीडिया पर दमदार उपस्थिति ज़रूरी है। कल से दो खबरें चल रही है। पहली कि फेसबुक ने कांग्रेस से जुड़े सैकड़ों पेजों बंद करवा दिया और दूसरी कि भाजपा द्वारा ‘नमो टीवी’ शुरू करने को लेकर विपक्ष चुनाव आयोग में जाने की तैयारी में है।

Talented View : भारतीय मतदाता का अंतर्द्वंद्व

गौरतलब है कि ‘नमो टीवी’ भाजपा द्वारा शुरू किया गया एक टीवी चैनल है, जिसमें दिन-रात प्रधानमंत्री के भाषण और उनसे जुड़ी खबरें दिखाई जाती हैं। चुनावी मौसम में कांग्रेस इस कदम को आचार संहिता का उल्लंघन मानकर चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करने का मन बना रही है। वैसे यह बात समझ नहीं आ रही की भाजपा को ‘नमो टीवी’ शुरू करने की ज़रूरत आखिर क्यों पड़ी?  क्योंकि अभी जो समाचार चैनल लगाओ, उसमें ही नमो-नमो सुनने को मिल रहा है। कुछ टीवी चैनल तो कांग्रेस पर इतने हमलावर हो गए, जितने खुद भाजपा के प्रवक्ता भी नहीं है।

सुबह शुरू होने के साथ ही ये चैनल रोज़ कांग्रेस पर एक नया आरोप लगाते हैं, उन्हें पाकिस्तान समर्थक या देशद्रोही साबित करते हैं और मोदी का गुणगान करते हैं। कुछ चैनल तो इतने मोदीमय हो चुके हैं, जितना नमो टीवी भी नहीं है। ऐसे में कांग्रेस को भी बार-बार शिकायतें लेकर चुनाव आयोग तो कभी सुप्रीम कोर्ट जाने से बेहतर है कि वह भी खुद को दूरदर्शी बनाए। भाजपा ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके पिछले चुनाव में बढ़त बनाई, लेकिन इस बार सोशल मीडिया पर कड़ी नज़र रखी जा रही है। राजनीतिक पेज और समूहों को हटाने की यह प्रक्रिया आगे भी जारी रह सकती है। भाजपा ने एक बार फिर दूरदर्शिता दिखलाकर खुद का टीवी चैनल शुरू कर दिया है। इससे सोशल मीडिया पर ‘सेंसरशिप’ लागू होने से भी उन्हें कोई विशेष फर्क नहीं पड़ेगा जबकि कांग्रेस सहित विपक्ष अभी इस बारे में सोच ही नहीं पा रहा है। 2019 का चुनाव हारने के बाद शायद उन्हें अक्ल आएगी, लेकिन तब तक देर हो गई होगी।

भाजपा (BJP) की शिकायत करने से बेहतर है कि कांग्रेस भी अपना एक चैनल बना ले मसलन ‘रागा टीवी’ और वे भी राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के भाषण दिखाने लग जाएं। ऐसा करने से उन्हें किसने रोका है, लेकिन कांग्रेस समझती है अपने नेता के बौद्धिक स्तर और काबिलियत को। राहुल गांधी राजनीति के कच्चे खिलाड़ी हैं, यह बात अंदरखाने कांग्रेसी भी समझते हैं, लेकिन कर कुछ नहीं सकते सिवाय शिकायतें करने के। कांग्रेस को यह बात समझनी चाहिए कि निजी तौर पर उन्हें प्रधानमंत्री से चाहे कितनी ही खुन्नस हो, लेकिन मार्केटिंग के तरीके उन्हें ज़रूर उनसे सीखने चाहिए।

Talented View : भोपाल सीट से इस बार मुकाबला रोचक

कांग्रेस (Congress) को नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ‘ब्रांड’ से मुकाबला करना है तो उन्हें भी दूरदर्शिता के साथ आगे बढ़ना होगा। नजदीक के फायदे के आगे दूरगामी नुकसान की तरफ फिलहाल उनका ध्यान ही नहीं है जबकि भाजपा दूरगामी परिणाम को ध्यान में रखकर अपनी रणनीति बना रही है। हर शहर में शानदार फाइव स्टार कार्यालय, खुद का चैनल और वित्तीय रूप से पार्टी को मजबूत करने की भाजपा की यह रणनीति राजनीति में लंबी पारी खेलने की उनकी दूरदर्शिता का ही परिणाम है। बिना किसी दूरगामी सोच और रणनीति के भाजपा से मुकाबला करना कांग्रेस के लिए दीन प्रतिदिन मुश्किल होता जाएगा।

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.