website counter widget

Talented View : भाजपा नेतृत्व को उन्हें उचित सम्मान देना चाहिए था

0

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) बहुत शानदार क्रिकेट खेलते थे। पूरी दुनिया आज भी उनका सम्मान करती है, लेकिन उन पर भी उम्र का असर हुआ और उन्हें खेल से संन्यास लेना पड़ा। सचिन तेंदुलकर जितना योगदान क्रिकेट को दे सकते थे उन्होंने दिया, लेकिन उसके बाद भी वे संन्यास लेने को तैयार न होते तो उससे क्रिकेट का शायद ही कुछ भला होता। उन्होंने अपनी बढ़ती उम्र को स्वीकारा और अपनी टीम द्वारा उन्हें बेहतरीन विदाई दी गई। हर खिलाड़ी को अपने खेल से विदाई लेनी ही पड़ती है, लेकिन कई खिलाड़ियों को उतनी सम्मानजनक विदाई नहीं नसीब हो पाती, जितनी तेंदुलकर को हुई।

Talented View : स्मृति से लगी होड़ तो वायनाड लगाई दौड़

Today Cartoon On Lal Krishna Advani Blog :

लालकृष्ण आडवाणी द्वारा लिखा गया ब्लॉग कल से सुर्खियों में है। ब्लॉग में कई बातें कही गई हैं, लेकिन मीडिया का सारा ध्यान कुछ पंक्तियों पर आकर सिमट चुका है। आडवाणी ने सबसे बड़ा देश को, उसके बाद पार्टी को और सबसे आखिर में स्वयं को रखा। और एक बात उन्होंने कही कि अपने राजनीतिक जीवन में उन्होंने कभी अपने विरोधियों को राष्ट्रद्रोही नहीं कहा। राजनीतिक मतभेदों के बावजूद किसी पर देशद्रोही होने का इल्जाम नहीं लगाया। विरोधियों ने इसे प्रधानमंत्री मोदी पर इशारों में हमला बताया तो मोदी ने आडवाणी के इस कथन को पार्टी की सच्ची विचारधारा से जोड़ दिया, लेकिन मूल सवाल पर किसी का ध्यान नहीं है। प्रश्न यह है कि क्या किसी नेता को चुनाव का टिकट देना ही उनका सम्मान करना है ?

Talented View : राहुल यह बात समझें तो कांग्रेस का भला होगा

यदि ऐसा है तो कांग्रेस को भी मनमोहनसिंह, मोतीलाल वोरा जैसे नेताओं को टिकट देकर उनका सम्मान करना चाहिए। रॉबर्ट वाड्रा भी खुद को आडवाणी से अपमान से व्यथित दिखला रहे हैं, लेकिन उन्हें शायद यह याद नहीं कि सीताराम केसरी के साथ कांग्रेसियों द्वारा कैसा सलूक किया गया था?  उनकी शवयात्रा तक को कांग्रेस दफ्तर में नहीं घुसने दिया गया था।  बुज़ुर्ग नेताओं का सम्मान होना चाहिए यह एक सैद्धांतिक बात है, लेकिन दोहरा रवैया यह है कि सभी नेताओं को दूसरी पार्टी के बुज़ुर्गों की बड़ी चिंता है, लेकिन खुद की पार्टी में हाशिये पर पड़े वयोवृद्ध नेताओं की तरफ कोई देखना नहीं चाहता।

हर पार्टी में ऐसे अनेक उदाहरण हैं, जहां बुज़ुर्ग नेता उपेक्षा के शिकार हैं। इन सबके बीच चर्चा यह होना चाहिए कि 90 वर्ष के किसी बुजुर्ग से यह उम्मीद कैसे की जा सकती है कि  वे जनता के लिए आंदोलन कर सकेंगे? जनता के मुद्दों को सुलझा पाएंगे या फिर उनके लिए सड़कों पर संघर्ष कर पाएंगे? ऐसे में बुज़ुर्ग नेता क्या जनता पर खुद एक बोझ नहीं बन जाएंगे? इसके अलावा यदि बुज़ुर्ग नेता पीछे नहीं हटेंगे तो युवाओं को मौका कैसे मिलेगा? आडवाणी मामले में कुछ गलती भाजपा में नेतृत्व की है तो कुछ आडवाणीजी की भी है। 5 सालों में भाजपा नेतृत्व गंभीर विषयों पर आडवाणी की राय लेने जाते या उन्हें भरपूर सम्मान देते तो आज विरोधियों को ऐसी बातें बनाने की नौबत नहीं आती।

मोदी-आडवाणी की साथ बैठे कुछ तस्वीरें मीडिया में आती तो भी विरोधियों की बोलती बंद हो जाती। यह गलती भाजपा नेतृत्व से हुई है, लेकिन आडवाणीजी को भी बड़प्पन दिखाना चाहिए था, जिसमे वो चूक गए। टिकट कटने से बहुत पहले ही उन्हें राजनीति से संन्यास की घोषणा कर देना चाहिए थी। इससे उनके गौरव, सम्मान में वृद्धि होती और उनकी गरिमा भी बनी रहती। उम्र पर किसी का जोर नहीं है। वक्त आने पर सभी को अपने क्षेत्र से संन्यास लेना ही पड़ता है। सचिन तेंदुलकर की तरह थोड़ा बड़प्पन के साथ संन्यास लिया जाए तो व्यक्ति का कद और ऊपर उठता है।

Talented View : दूरगामी सोच के साथ मुकाबला करे कांग्रेस

जबरदस्ती किसी को संन्यास दिलाना पड़े तो ऐसी स्थिति में हालात थोड़े असहज ज़रूर हो जाते हैं। सम्मानजनक विदाई हर खिलाड़ी के साथ ही नेताओं के लिए भी ज़रूरी है, लेकिन ऐसा हर बार नहीं हो पाता है । आडवाणी मामले में यही कहा जा सकता है कि भाजपा नेतृत्व को उन्हें उचित सम्मान देना चाहिए था, जिसमें वे चूक गए। दूसरा आडवाणीजी भी जैसा ब्लॉग आज लिख रहे हैं, वैसे ही अपने संन्यास की घोषणा वे कुछ समय पहले खुद कर देते तो बेहतर होता। आडवाणी भारतीय राजनीति में अपना भरपूर योगदान कर चुके हैं और इस उम्र में अब उन्हें किसी भी विवाद में नहीं घसीटना चाहिए।

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.