Talented View : जनसंख्या विस्फोट सबसे बड़ा खतरा

0

लालकिले की प्राचीर से लगातार छठी बार उद्बोधन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के सामने अपनी बात साफगोई से रखी। मोदीजी को प्रधानमंत्री देखते हुए 5 साल के अनुभव से ये बात कहना पड़ेगी कि मोदी 2.0 में आगे भी कई बड़े धमाके होने वाले हैं। प्रधानमंत्री के उद्बोधन में धारा 370, जम्मू-कश्मीर, तीन तलाक, स्वच्छता, खुले शौच से मुक्त भारत, सिंगल यूज़ पॉलीथिन से छुटकारा ऐसी बातें थी, जिनका दूरगामी परिणाम देखने को मिलेगा।

Talented View :   मोदी सर्वमान्य वैश्विक नेता

‘हर घर-शुद्ध जल’ की मोदी की परिकल्पना धरातल पर आगामी सालों में उतरने वाली है। इसके लिए किसी ठोस परियोजना पर काम चल ही रहा होगा। इस योजना में जल के साथ लगे शब्द ‘शक्ति’ पर गौर करें, तो इसके कई मायने निकल सकते हैं। मिडिल क्लास को विदेश की बजाय अपने ही देश के पर्यटन स्थलों पर घूमने जाने की सलाह भी मोदी ने दी। पाकिस्तान पर चुप्पी साधकर उसके पड़ोसी अफगानिस्तान को स्वतंत्रता की बधाई देने के कुटिनीतिक मायने हैं।

लेकिन जो नए मुद्दे प्रधानमंत्री की राडार पर आए हैं वो हैं- जनसंख्या नियंत्रण और भ्रष्टाचार। इन दोनों पर कोई बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक मोदी करने वाले हैं। सूत्रों की माने, तो भ्रष्ट अधिकारी, कर्मचारियों का एक बहुत बड़ा डाटाबेस सरकार द्वारा तैयार किया जा रहा है। नोटबन्दी की तरह किसी भी रात भ्रष्टाचार पर प्रहार कर दिया जाएगा। करोड़ो-अरबों की 2 नंबर में कमाई करने वाले अब बच नही पाएंगे।

Talented View :  खाना हिन्दू है या मुसलमान ?

इसी तरह जनसंख्या में बेतहाशा वृद्धि भी प्रधानमंत्री मोदी के निशाने पर है। ये बात कोई स्वीकार करे चाहे न करे,  लेकिन सच है कि एक ‘वर्ग विशेष’ की आबादी अनुपातहीन बढ़ती जा रही है। देश के रिसोर्सेज सीमित है और जनसंख्या विस्फोट हमारे लिए बड़ा खतरा है। भारत को विश्व की बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शुमार कराना भी प्रधानमंत्री का मिशन है। 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये निश्चय ही कारगर प्लान सरकार के पास होगा।

लालकिले से प्रधानमंत्री मोदी को 6 बार सुनने के बाद किसी के मन मे अनिश्चय नहीं होना चाहिये कि जो यहां से कहा गया है वो पूरा नही होगा। वन नेशन-वन इलेक्शन भी कोई कितना ही हवाई बताए,  लेकिन 2024 तक ये भी होने के पूरे आसार है। कुल मिलाकर प्रधानमंत्री के 15 अगस्त के उद्बोधन में ऐसी कई बातें हैं, जिन्हे ‘डिकोड’ करने की जरूरत है। देश को अरसे बाद एक ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जिसकी सोच युवा है और पैर भी ज़मीन पर है। इसलिए भारत की राजनीति में आने वाले कुछ साल निर्णायक होने वाले है।

Talented View : मोदी का गुस्सा मरियम पर निकला!

Share.