website counter widget

Talented View : भारत की ललकार, परमाणु युद्ध को तैयार

0

कल रक्षामंत्री राजनाथसिंग ने एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि आज तक कि हमारी परमाणु नीति यही है कि हम पहला वार नही करेंगे, लेकिन भविष्य में क्या होगा ये हालातों पर निर्भर करेगा। इशारा साफ था। कश्मीर में धारा 370 हटाने से बुरी तरह बौखला चुके पाकिस्तान को सधे हुए शब्दों में समझा दिया गया है। हालांकि पाकिस्तान सुधरेगा नही ये सब जानतें है। किंतु अबकी बार कोई नादानी उसे भारी पड़ सकती है।

Talented View : जनसंख्या विस्फोट सबसे बड़ा खतरा

संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में कल बने हालात भी यही इशारा कर रहे है कि पाकिस्तान को कश्मीर के सुधरते हुए हालात रास नही आ रहे है। पाकिस्तान ऐसा देश है जो अपनी जनता को 2 वक्त की रोटी भी नही खिला पा रहा है लेकिन कश्मीर को पाकिस्तान में मिलाने की चरस रोज़ाना अपनी जनता को पिलाया करता है। वहां के लोग भी इतने जाहिल है कि उन्हें खुद की रोटी, कपड़े, मकान से ज्यादा कश्मीर और कश्मीरियों की चिंता होती है।

खुद के प्रांत बलूचिस्तान, गिलगिट में जनता पाकिस्तान आर्मी के खिलाफ सड़को पर है, पाकिस्तान से अलग होने की मांग ये सूबे दशकों से करते आ रहे है लेकिन इन्हें ढोंग करना होता है कश्मीर पर। और वाकई इस ढोंग में वो कामयाब भी हुए। पाकिस्तान ने इतने सालों तक अंतरराष्ट्रीय मंचो पर कश्मीर को विवादित क्षेत्र की तरह ही पेश किया। इधर दिल्ली की सरकारें बदलती रही परंतु किसी में हिम्मत नही हुई कि धारा 370 खत्म कर सके। लेकिन अब जबकि अंततः कश्मीर से धारा370 की आधिकारिक विदाई हो चली है तब पाकिस्तान को ये सब फूटी आंख नही सुहा रहा है।

Talented View :   मोदी सर्वमान्य वैश्विक नेता

दशकों की मेहनत पर यूँ एकाएक पानी फिरते देख पाक तमतमाया हुआ है। कुछ और हाथ न लगते देख अपने दोस्त चीन के साथ मिलकर उसने सुरक्षा परिषद की बैठक बुला ली। लेकिन भारत की कूटनीतिक किलेबंदी से ये दांव भी फैल हो गया। सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देश अमेरिका, रूस और फ्रांस ने भारत का पूर्ण समर्थन किया। यहां बंद कमरे में हुई चर्चा के बाद भी पाकिस्तान खुद को बेइज़्ज़त होने से नही बचा पाया।

इन सारी कड़ियों को जोड़कर विस्तृत परिप्रेक्ष्य में देखा जाए तो अब लगता है परमाणु बम ही पाकिस्तान के पास एकमात्र विकल्प शेष है। जिसके पास खोने के लिये कुछ नही होता वो आत्मघाती कदम उठाने में भी कभी पीछे नही रहता। इसलिए देश की सुरक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण व्यक्तियों को ये अंदेशा हो चुका है कि अब पाकिस्तान परमाणु बम का प्रयोग भी कर सकता है। हालांकि ये बात पाक भी जानता है कि पहले हमला करके हमारा कुछ नुकसान जरूर कर सकता है लेकिन इसके बाद एक मुल्क के तौर पर पाकिस्तान का वज़ूद ही जमींदोज हो जाएगा।

Talented View :  खाना हिन्दू है या मुसलमान ?

वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए लगता नही की हम किसी बड़े युद्ध की तरफ जाएंगे। लेकिन कहतें है ‘नंगे के नौ ग्रह बलवान’ पाकिस्तान जैसा भिखारी मुल्क परमाणु हमले जैसी नादानी कर भी सकता है क्योंकि उसके पास खोने को कुछ नही है। रक्षामंत्री के परमाणु वाले बयान को इसी परिप्रेक्ष्य में देखने की जरूरत है। रक्षामंत्री की ये पाक को स्पष्ट चेतावनी है कि हम भी पहले परमाणु हमला कर सकतें है, पाक किसी मुग़ालतो में न रहे। पागल कुत्तों का इलाज़ करना भारत ने अब सीख लिया है।

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.