Talented View : विरोध प्रदर्शन पर Coronavirus का वार

0

केंद्रीय स्वास्थ मंत्री हर्षवर्धन (Union Health Minister Harsh Vardhan) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारत मे कोरोना वायरस (Coronavirus Alert)  पर जानकारियां दी। कोरोना (Coronavirus Attacks CAA Protesters) के बारे में जितनी जानकारियां सामने आ रही है उससे यही समझ आता है कि भारत मे इसके फैलने की गुंजाइश ज्यादा है नही। अपवाद स्वरूप जरूर कुछ मामले सामने आ सकतें है लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus India) का भारत की जलवायु में पनपना बहुत मुश्किल है। अभी जितने मामले सामने आए हैं उसमें से सभी विदेश से घूमकर आए हुए लोगों के ही हैं। इटली के दल की भी कोरोना की पुष्टि होने के बाद अब सरकार ने विदेश (Coronavirus Reaches Delhi) से आने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग करने का निर्णय लिया है।

Talented View : मोदी को हराने के लिए ज़मीन से जुड़ा नेता चाहिए

प्रधानमंत्री मोदी ने अभी ट्वीट (Narendra Modi tweet) किया कि भीड़-भाड़ (Coronavirus Attacks CAA Protesters) वाले इलाकों में कोरोना (Coronavirus Is Spreading) के फैलने की संभावना ज्यादा है इसलिए वो इस बार होली (Holi Event) मिलन कार्यक्रम में शामिल नही होंगे। प्रधानमंत्री (PM Modi) का इशारा साफ है कि भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचा जाए। इसी को कहा जाता है एक तीर से दो निशाने लगाना। भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचने का परोक्ष मतलब है किसी विरोध प्रदर्शन (Delhi Riots 2020) में शामिल न होना। कल मोदीजी (PM Modi)  ने कहा था कि कोरोना से घबराने से जरूरत नही है लेकिन आज वो सावधानी बरतने की बात कर रहे है।

Talented View : विश्व के सभी देश मिलकर आतंक पर हमला करें

मतलब कोरोना (Coronavirus Attacks CAA Protesters) के खतरे का भी इस्तेमाल मोदीजी ने विरोध प्रदर्शनों (CAA Protesters) की आग को बुझाने में कर लिया है। इसे ही राजनीतिक कुशलता कहा जाता है। खेर, कोरोना को लेकर एक खतरा जरूर देश पर मंडरा रहा है लेकिन फिर भी ये खतरा इतना बड़ा नही है। कोरोना वायरस के फैलने के लिए जो सबसे अनुकूल माहौल होता है वो भारत मे निर्मित हो ही नही सकता। कुछ दिन में गर्मियां शुरू हो जाएंगी और तापमान में इतनी तेजी आ जाएगी की कोरोना के वायरस का जिंदा बच पाना ही असम्भव हो जाएगा।

न्यूज़ चैनलों पर कल से ऐसा माहौल (Coronavirus Attacks CAA Protesters)  बना दिया गया है मानो भारत कोरोना (COVID 19) की चपेट में आ ही गया हो। लेकिन धरातल पर हालात बिल्कुल सामान्य हैं। खबरों की कमी से जूझ रही मीडिया ने कोरोना को ही सबसे बड़ी खबर बनाकर दिखाना शुरू कर दिया है। लेकिन इससे जनता में अनावश्यक भय का वातावरण निर्मित होता है। ऐसा ही डर का माहौल जीका, स्वाइन फ्लू, हेपेटाइटिस, बर्ड फ्लू और इबोला वाईरस को लेकर भी बनाया गया था।

इनमें से एक भी वायरस (Coronavirus Attacks CAA Protesters)  भारत मे पैदा नही हुआ बल्कि सब विदेशों से ही भारत आए हैं। सोचने की बात है कि भारत ने दुनिया को हमेशा कुछ सकारात्मक और रचनात्मक चीजें ही दी हैं लेकिन बाकी देशों ने भारत को बीमारियां, युद्ध, घुसपैठ और आतंकवाद ही दिए है। कोरोना वायरस (Coronavirus truth) भी चीन में फैला जहां जानवरों को खाने की सारी हदें लांघ दी गयी थी। अजगर, चमगादड़, सांप, कुत्ते खाने वालों की गलतीं की सज़ा दुनिया के कई देश भुगतने को मजबूर हैं।

भारत मे जो कुछ मामले कोरोना(Coronavirus Attacks CAA Protesters)  के सामने आए हैं उनसे ये वायरस पूरे देश मे फैलेगा इसकी संभावनाएं न के बराबर हैं। इसलिए आप भी सावधानियां जरूर बरतें लेकिन घबराएं बिल्कुल नही। विदेश से आने वाले यात्रियों की बाकायदा जांच हो और जो मामले सामने आए हैं उन्हें अलग जगहों पर रखकर इस समस्या से निपटा जा सकता है। सरकार इस मामले पर गंभीर है और जरूरी इंतज़ाम भी कर रही है। जनता को सिर्फ धैर्य रखना है और किसी भी अफवाह पर ध्यान नही देना है। कुछ ही दिन में कोरोना बीते दिनों की बात होने वाला है।

Talented View : जनता के हितों का ध्यान रखना सरकार की जिम्मेदारी

Sachin Pauranik

Share.