शाहीन बाग़ का खेल दिल्ली में होना भाजपा को जीत दे गया

0

आपने वो मुहावरा सुना ही होगा “लेने के देने पड़ना” कई बार ज्यादा समझदारी में ऐसे हालात बन जातें है कि प्लानिंग फेल हो जाती है और परिस्थितियां उलट जाती है। (Shaheen Bagh Profit BJP) इस मुहावरे का प्रत्यक्ष उदाहरण ‘शाहीन बाग़’  (Shaheen Bagh) आंदोलन में देखने को मिल रहा है। नागरिकता कानून के विरोध में शुरू हुआ ये आंदोलन इतनी जल्दी देशभर में पहुंच जाएगा इसकी उम्मीद आंदोलनकारियों को भी नही थी।जैसा ही हमेशा होता आया है इस बार भी सरकार विरोधी हर आंदोलन की तरह इस आंदोलन को भी विपक्षी दलों का पुरजोर समर्थन मिला। शाहीन बाग़ वालो को भी जोश आया और उनके तंबू ने बढ़ते-बढ़ते दिल्ली-नोएडा मुख्य मार्ग को भी लील लिया। लाखों लोगों का व्यापार और रोजमर्रा की जिंदगी इस आंदोलन से प्रभावित हो रही है लेकिन आंदोलनकारियों (Shaheen Bagh Profit BJP) को लगा कि सरकार झुक जाएगी और वो आन्दोलन वापस ले लेंगे। लेकिन सरकार ने दो टूक कह दिया कि एक इंच भी पीछे नही हटेंगे।दिल्ली चुनाव और अल्पसंख्यक वोटों के लालच में दिल्ली की आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) सरकार ने भी इस आंदोलन को समर्थन दे दिया। पर्दे के पीछे से समर्थन तो हर विपक्षी दल दे रहा था लेकिन वोटबैंक की खातिर मनीष सिसोदिया खुलकर कह बैठे की हां हम शाहीन बाग़ के साथ खड़े है। और यहीं से दिल्ली चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) ने करवट ले ली। एक महीने पहले तक किसी को संदेह नही था कि केजरीवाल (Arvind Kejriwal) आसानी से दिल्ली फतह कर लेंगे।

Pakistan को Arvind Kejriwal का तमाचा

Shaheen Bagh का खेल दिल्ली में होना BJP को जीत दे गया | Delhi Elections 2020

Shaheen Bagh का खेल दिल्ली में होना BJP को जीत दे गया | Delhi Elections 2020आपने वो मुहावरा सुना ही होगा "लेने के देने पड़ना" कई बार ज्यादा समझदारी में ऐसे हालात बन जातें है कि प्लानिंग फेल हो जाती है और परिस्थितियां उलट जाती है। इस मुहावरे का प्रत्यक्ष उदाहरण 'शाहीन बाग़' आंदोलन में देखने को मिल रहा है। नागरिकता कानून के विरोध में शुरू हुआ ये आंदोलन इतनी जल्दी देशभर में पहुंच जाएगा इसकी उम्मीद आंदोलनकारियों को भी नही थी।#Modi #ShaheenBagh #CAA #Jamia #DelhiElections

Talented India News द्वारा इस दिन पोस्ट की गई मंगलवार, 4 फ़रवरी 2020

भाजपा-कांग्रेस (BJP Congress) कहीं केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के आसपास भी नही दिखाई दे रहे थे।लेकिन इसी शाहीन बाग आंदोलन (Shaheen Bagh movement) की वजह से भाजपा (BJP) को अचानक दिल्ली करीब (Shaheen Bagh Profit BJP) दिखाई देने लग जायेगी किसी ने सोचा नही था। इस आंदोलन के चलते दिल्ली का आम नागरिक दुखी है। मुख्य सड़क बन्द किये जाने से आम जनता में गुस्सा हैं और शाहीन बाग़  (Shaheen Bagh) के चलते ध्रुवीकरण भी जबरदस्त होने की संभावना बन गयी है। दिल्लीवासियों में इस जाम के खिलाफ आक्रोश भड़क रहा हैं और भाजपा के नेता भी अपने बयानों से इसमें पेट्रोल छिड़कने में पीछे नही हट रहे है।कल प्रधानमंत्री (PM Modi) ने भी इस आंदोलन को लेकर कहा कि ये ‘संयोग’ नही बल्कि एक ‘प्रयोग’ है। इसे यहां नही रोका गया तो कल को कोई दूसरी सड़क जाम की जायेगी। शाहीन बाग के आंदोलनकारी अब बुरे फंस गये है।

BJP-AAP में रैप बैटल, किसका टाइम आएगा, दिल्ली वाला बताएगा, देखें Video

सरकार इस आंदोलन (Shaheen Bagh Profit BJP) को न रोकने के मूड में है न ही कुचलने के। सरकार इसे यथास्थिति में ही रखना चाहती है और ये स्थिति भाजपा के लिए उपजाऊ जमीन की तरह है। ईस ज़मीन से सत्ता की लहराती हुई फसल काटने की उम्मीद अब जाग गयी है।इस ध्रुवीकरण को केजरीवाल (Arvind Kejriwal) भी बखुबी समझ रहे है और इसीलिए आजकल वो चेनलो पर ‘हनुमान चालीसा’ गाकर सुना रहे है। केजरीवाल अगर कह रहे है कि वो हनुमान भक्त है तो इसके मायने बहुत गहरे है। दिल्ली के चुनाव में शाहीन बाग़ दरअसल विपक्ष के गले की फांस बन चुका है। आंदोलन  (Shaheen Bagh Delhi) को बिना अंजाम तक पहुंचे बंद कर दिया गया तो गलत संदेश जाएगा, दूसरी तरफ आंदोलन की फंडिंग रोके जाने से ‘बिरयानी’ में भी कमी आने लगी है।ये आंदोलन जो केंद्र सरकार को हिलाने के लिए चलाया गया था अब वही दिल्ली चुनाव में भाजपा के लिए संजीवनी बन गया है। शाहीन बाग़  (Shaheen Bagh Profit BJP)  वालों के साथ ही विपक्ष को भी ‘लेने के देने’ पड़ गए है। शाहीन बाग की अराजकता जनता को भड़काने का काम कर रही है। इससे कोई इनकार नही कर सकता कि शाहीन बाग़ आंदोलन ने दिल्ली के एकतरफा मुकाबले को कांटे की टक्कर में तब्दील कर दिया है। ये आंदोलन न सिर्फ अपने उद्देश्य से भटक गया है बल्कि अपनी विश्वसनीयता को भी लगातार खोता जा रहा है..!

दिल्ली चुनाव में AAP का घोषणा पत्र जारी, जाने AAP भाजपा कांग्रेस के घोषणापत्र में क्या अंतर है

Sachin Pauranik

Share.