गर्दिश में हो तारे, ना घबराना प्यारे…

0

अमिताभ बच्चन के जीवन में एक दौर ऐसा आया था, जब उनके सितारे गर्दिश में आ गए थे। फ़िल्म प्रोड्यूसिंग कंपनी एबीसीएल के पिटने के बाद  वे पाई-पाई के लिए मोहताज हो गए थे। वह एक ऐसा दौर था, जो किसी भी सितारे को अवसाद में धकेलने के लिए काफी था, लेकिन यहीं इंसान के संस्कार उसके काम आ जाते हैं। चाहे लाख समस्याएं रहीं अमिताभ के सामने, लेकिन उन्होंने कभी किसी तरह का नशा नहीं किया, शराब नहीं पी और न ही किसी को बेवजह अपशब्द कहे। कहने का मतलब यही है की बुरे दौर में आपके संस्कार बहुत काम आते हैं।

समय भी धीरे-धीरे ही सही बदलता जरूर है सो अमिताभ ने भी ‘कौन बनेगा करोड़पति’ से छोटे पर्दे पर आने का बड़ा दांव खेला और वह बेहद सफल रहा। उनको छोटे पर्दे पर इतना पसंद किया गया कि उनके शो ने टीआरपी के कई कीर्तिमान भी स्थापित किए औऱ उनकी आर्थिक स्थिति भी सुदृढ़ हो गयी। अमिताभ समझदार थे इसलिए कुछ दिनों के अंतराल के बाद केबीसी से ब्रेक लेते थे और फिर कुछ महीनों बाद नए जोश से दर्शकों के सामने आते थे। इस प्रकार उनके शो का नयापन और आकर्षण बरकरार रहा और केबीसी के लगातार कई सीज़न सुपरहिट हो गए।

स्टारडम और चकाचौंध का नशा होता ही ऐसा है कि उस पर काबू रख पाना हर किसी के लिए आसान नहीं होता। अमिताभ जैसे कलाकार ने अपने जीवन के हर उतार-चढ़ाव में अपनी समझदारी और अक्ल पर कभी  पर्दा नहीं पड़ने दिया, लेकिन हर कोई अमिताभ जितना समझदार नहीं हो सकता।

एक समय टीवी के किंग कहे जा रहे कपिल शर्मा अब अपने गालियों भरे ट्वीट्स, पत्रकारों को सरेआम अपशब्द कहने और गैर जिम्मेदाराना बर्ताव के कारण गंभीर मुश्किलों में फंसते नजर आ रहे हैं। उन्हें जितनी दौलत और शोहरत मिली, वे उसे संभालने में नाकाम रहे। रूपए और शराब के नशे में उन्होंने हर वह काम किया, जो उनके स्तर के कलाकार को कतई शोभा नहीं देता।

हाल ही में शुरू हुए अपने नए शो ‘फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा’ के महज तीन एपिसोड शूट करने के बाद अब उनकी हालत यह है कि उन्होंने खुद को अपने घर में कैद कर लिया है और किसी से मिल भी नहीं रहे हैं। इस शो के लिए चैनल की टीम उनके घर मिलने भी गई, लेकिन वे उनसे मिले नहीं और न किसी का भी फ़ोन उठा रहे हैं। शराब और शोहरत के नशे में अब कपिल शर्मा इतनी बुरी तरह फंस चुके हैं कि उन्होंने अपने क़रीबियों को भी अपना दुश्मन बना लिया है।

बुरा दौर किसी के भी जीवन में आ सकता है, लेकिन इंसान के संस्कार ऐसे दौर में एक सुरक्षा कवच की तरह कार्य करते हैं, लेकिन कपिल थोड़ी मुसीबतें आते ही शराब के नशे में सबको अनाप-शनाप बोलने लगे। उनके गालियों भरे ट्वीट को जिसने भी देखा, वह यह यकीन नहीं कर पा रहा था कि यह उसी शख़्स ने लिखा है, जो दुनिया को हंसाने का काम करता है।

अपने साथी कलाकारों से दुर्व्यवहार हो या प्रेमिका को धोखा देना, उन्होंने यह बार-बार साबित किया है कि कलाकार बेशक वे अव्वल दर्जे के हैं, लेकिन इन्सान बेहद ही घटिया किस्म के हैं। अपनी फिल्मों के न चलने और गिरते स्टारडम की वजह से वे गंभीर अवसाद में घिरते जा रहे हैं। उन्हें यह याद रखना चाहिए कि बुरा दौर हर कलाकार के जीवन में आता है और संयम के साथ इससे उबरा जा सकता है, लेकिन उन्होंने जो नशे में डूबने का रास्ता चुना है, वह फ़िल्म ‘डर्टी पिक्चर’ की सिल्क की याद दिला रहा है।

कपिल के एक उम्दा कलाकार होने की वजह से उन्हें चाहने वाले लाखों की तादाद में हैं, जो यह चाहते हैं कि कपिल शर्मा जल्द ही इस दौर से उबरकर पर्दे पर जोरदार वापसी करें, लेकिन अभी के हालात देखकर लगता है कि उनके लिए फिर से वही मुकाम हासिल करना आसान नहीं रहने वाला है।

-सचिन पौराणिक

Share.