website counter widget

Talented View : मोदी आए भी और छाए भी…

0

अद्भुत, अविश्वसनीय, अकल्पनीय.. भारत के लोकतांत्रिक इतिहास में आज वो हो गया जो आज तक नहीं हुआ था। एक चायवाले ने वो कर दिखाया जिसकी बड़े-बड़े राजनीतिक दिग्गज कल्पना भी नहीं कर सकते थे। सत्ता विरोध यानि ‘एंटी इनकंबेंसी’ की भावना आज तक सुनी गयी थी लेकिन इस जीत ने साबित कर दिया कि नीयत साफ हो तो जनता दोबारा सत्ता भी दिलाती है, ‘प्रो इनकम्बेंसी’ की भावना भी जनता में होती है।

किसी पूर्ण बहुमत की गैर-कांग्रेसी सरकार को दोबारा पूर्ण बहुमत देना कुछ ऐसा है जो कि आज तक सिर्फ सुना ही गया था। किसी राजनीतिक विश्लेषक, पंडित को ये अनुमान नहीं था कि मोदी दोबारा ज्यादा बहुमत से जीतने जा रहे हैं।

शेयर एडवाइजरी कंपनी का मालिक धोखाधड़ी के मामले में रिमांड पर

Today Cartoon On PM Narendra Modi Victory, Rahul Gandhi, Congress

मोदी की लहर से इनकार करने वालों को ये अंदाज़ तक नही था कि इस बार मोदी लहर नहीं बल्कि महासुनामी चल रही है। ये सुनामी इतनी खतरनाक थी कि इसमें कांग्रेस के 7 पूर्व मुख्यमंत्री अपना चुनाव हार गए। मोदी के खिलाफ ‘नाकाबंदी’ की अगुवाई करने वाले चंद्रबाबू नायडू खुद के राज्य में बुरी तरह पिछड़ गए। आंकड़े लगातार बदलते जा रहे हैं लेकिन रुझान देखकर लगता है कि देश ने ये तय कर रखा था कि मोदी को जिताना है।

मोदी के रथ को न महागठबंधन रोक पाया न जातीय समीकरण, न प्रियंका वाड्रा रोक पाई न राहुल गांधी, न विपक्षी एकता उन्हें रोक नहीं पाई, न ही भाजपा के बागी। मोदी आ रहे हैं, गाजे-बाजे के साथ आ रहे हैं , शान से आ रहे हैं । भारत की जनता ने इस बार सारे मतभेद भुलाकर सिर्फ मोदीजी को को वोट किया है, एक स्थिर सरकार के लिए वोट किया है।

Talented View : “बदनाम हुए तो क्या हुआ नाम तो होगा”

हमारे साथ ही पूरे विश्व की निगाहें भी भारत के चुनाव परिणाम पर टिकी हुई थी। हमारे दुश्मन मुल्क मोदी की हार की कामना कर रहे थे। लेकिन देश की जनता ने पूरे विश्व को संदेश दे दिया है कि भारत अब दुनिया का नेतृत्व करेगा और मजबूती से करेगा। वैश्विक नेताओं की मोदी को बधाइयां पहुंचने का दौर शुरू हो गया है।

पूरी दुनिया का रवैया अब भारत के लिये और सकारात्मक बनेगा, इसमें कोई शक नहीं। मोदी अब एक शक्तिशाली विश्व नेता बनेंगे और भारतीय मतदाता भी यही चाहता है। नतीजों की विस्तृत समीक्षा कल करेंगे, लेकिन अब कुछ पार्टियों का वजूद ही खतरे में आ जाएगा। आम आदमी पार्टी और वाम दलों के अलावा और भी छोटी-मोटी अनेक पार्टियां आज के बाद अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ने पर मजबूर हो जाएंगी। ऐसे राज्यों की एक लंबी सूची बनने जा रही है जहां कांग्रेस जैसी पार्टी अपना खाता भी नहीं ख़ोल पाई।

देश अब दो पार्टियों वाली राजनीति की दिशा में आगे बढ़ेगा जो कि देशहित में है।  ये निर्विवाद सत्य है कि भारतीय राजनीति में अब कोई ब्रांड है तो वो है सिर्फ ‘नरेंद्र मोदी’।  हम पहले से लिखते आ रहे थे कि मोदी-शाह का जवाब विपक्ष के पास है ही नहीं। आज मतदाताओं ने हमारे कथन पर मोहर लगा दी है।

Talented View : सांसें रोककर इंतज़ार कीजिए 23 मई का

अब देखना ये है कि विपक्ष अपनी हार को शालीनता से स्वीकार करता है या चुनाव आयोग/ईवीएम पर सवाल खड़े करता है? लेकिन चाहे जो हो आज का दिन देश की राजनीति में अमर हो गया है। एक ‘चायवाले’ ने देश की राजनीति की दिशा पूरी तरह से बदल दी है। जय हिंद, जय भारत, जय लोकतंत्र..!

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.