सन फार्मा को लग सकता है झटका!

1

देश की सबसे बड़ी दवा कंपनी ‘सन फार्मा’ विवादों में फंस सकती है| कंपनी पर मंडरा रहा काला साया शेयर होल्डर के मन में भय लेकर आ रहा है| शेयरहोल्डर का विश्वास कायम रखने के लिए कंपनी के डायरेक्टर को भी सामने आकर प्रेस कॉन्फ्रेस करनी पड़ी| दरअसल, ऐसा कहा जा रहा है कि मार्केट रेगुलेटर सेबी सन फार्मा के खिलाफ इनसाइडर ट्रेडिंग का केस खोल सकता है| सेबी का मानना है कि फार्मा कंपनी के खिलाफ लापरवाही और कुछ एंटिटीज की ओर से विदेश से फंड जुटाने के मामले सामने आए हैं|

व्हिसल ब्लोअर ने की शिकायत

सेबी को व्हिसल ब्लोअर के माध्यम से कंपनी में हो रही लापरवाही की जानकारी मिली है| इसके बाद ही इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला फिर से खोले जाने की बात कही जा रही है| दरअसल, सन फार्मा और प्रमोटर दिलीप संघवी के खिलाफ अनियमितता के आरोप हैं| वर्ष 2017 में सन फार्मा के मैनेजिंग डायरेक्टर और 9 अन्य एंटिटीज़ की 18 लाख के सेटलमेंट चार्ज को लेकर इनसाइडर ट्रेडिंग की जांच हुई थी, जो मामला बंद हो गया था, लेकिन अब यह केस फिर से खुल सकता है| इनमें कर्मचारियों और अन्य को 25 करोड़ डॉलर का कर्ज देने का फैसला भी शामिल है|

शेयरों में लगभग 8 प्रतिशत की गिरावट के बाद कॉन्फ्रेंस

सेबी द्वारा कथित रूप से लगाए गए आरोप के बाद सोमवार को फार्मा कंपनी के शेयरों में लगभग 8 प्रतिशत की गिरावट आई| वहीं मंगलवार सुबह सन फार्मा के शेयरों ने 457.75 के साथ शुरुआत की| कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह अपनी विश्वसनीयता और कॉरपोरेट गवर्नेंस को फिर से स्थापित करने के लिए काम करेगी| इसके लिए पहले के कुछ फैसलों की समीक्षा की जाएगी और उन्हें वापस भी लिया जा सकता है|

सन फार्मा के मैनेजिंग डायरेक्टर दिलीप सांघवी ने कहा, “यह स्ट्रक्चर्ड डील है और ज़रूरत पड़ने पर इसे खत्म किया जा सकता है| शेयरहोल्डर्स हमसे क्या कहते हैं, यह उस पर निर्भर करता है| अभी मैं इस बारे में कोई जवाब नहीं दे सकता| यदि हमें लगता है कि शेयरहोल्डर ऐसा चाहते हैं तो हम इस डील को खत्म कर देंगे| हमने यह कर्ज कुछ शर्तों के साथ दिया है| इसका फाइनेंशियल असर होगा, हम निवेशकों को समझाएंगे कि इस डील के क्या फायदे हैं| इसके बाद भी उन्हें लगता है कि सौदा फायदेमंद नहीं है तो हम उनकी पसंद के विकल्प पर विचार करेंगे|”

OMG : जॉनसन एंड जॉनसन ने स्वीकारी गलती, हजारों ज़िंदगी से हुआ खिलवाड़

हिप इम्प्लांट विवाद : जॉनसन एंड जॉनसन की चौंकाने वाली लापरवाही

राज्य शासन ने इनका किया प्रमोशन

Share.