Coronavirus की वजह से निवेशकों के डूबे 11.42 लाख करोड़ रुपए

0

Coronavirus जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने महामारी घोषित कर दिया है (Downfall In Share Market) उसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। अब तक इस वायरस से 4600 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और हजारों लोग इससे संक्रमित हैं। Coronavirus ने दुनिया भर की अर्थव्यवस्था (World Economy) को भी हिलाकर रख दिया है। जहां दुनिया भर में इस वायरस को लेकर खौफ बढ़ता जा रहा है वहीं इसका असर शेयर बाजार (Share Market) पर भी देखने को मिल रहा है। दुनिया भर के शेयर बाजारों में गिरावट का दौर जारी है। कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते खतरे की वजह से भारतीय शेयर बाजार ने गिरावट के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले। Coronavirus ने अब शेयर बाजार में हाहाकार मचा दिया है। शेयर बाजार में जारी गिरावट आखिर कब तक रहेगी और कहां जाकर थमेगी इस बारे में न तो कुछ कहा जा सकता है न ही इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। फिलहाल अभी शेयर बाजार में 3 हजार से भी ज्यादा अंकों की गिरावट दर्ज की गई है। इतनी भारी गिरावट साल 2008 के बाद पहली बार देखने मिली है। सबसे ज्यादा गिरावट रिलायंस (Reliance) और टाइटन (Titan Company) के शेयरों में दर्ज की गई है। इन दोनों की गिरावट ने बाजार को 52 हफ्तों के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा दिया है।

Today Share Market Report : शेयर बाजार में जबरदस्त उछाल

कारोबारी गिरावट (Downfall In Share Market) की अगर बात की जाए सबसे बड़ी गिरावट 22 जनवरी 2008 को दर्ज की गई थी जब एक दिन में बाजार में 2,273 अंकों की गिरावट दर्ज की गई थी। 22 जनवरी 2008 की गिरावट का वो रिकॉर्ड आज यानी 12 मार्च 2020 गुरुवार के दिन टूट गया। आज के दिन की शुरुआत बड़ी गिरावट के साथ हुई। वैश्विक बाजारों से मिल रहे संकेतों के आधार पर घरेलू बाजार बड़ी गिरावट के साथ खुले। Coronavirus की वजह से आज शेयर बाजार (Share Market) में इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। कोरोना ने सिर्फ भारतीय बाजार ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के बाजारों की कमर तोड़ दी। घरेलू बाजार में आज सेंसेक्स (Sensex) ने अपने कारोबार की शुरुआत 1200 अंकों से ज्यादा गिरावट के साथ की और देखते ही देखते यह गिरावट 2500 अंकों से भी ज्यादा तक पहुंच गई। घरेलू बाजार में गिरावट की रफ़्तार इतनी तेज थी कि निवेशकों के महज़ एक मिनट में 6 लाख करोड़ रुपए डूब गए।

Today Share Market Report : शेयर बाजार में भारी गिरावट

दिनभर के कारोबार (Downfall In Share Market) में लगातार गिरावट के बाद बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) 2,919.26 अंक यानी 8.18 फीसदी की रिकॉर्ड गिरावट के साथ 32,778.14 के स्तर पर पहुंच कर बंद हुआ। जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) का प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ़्टी (Nifty) 825.30 अंक मतलब 7.89 फीसदी की भारी गिरावड़ के साथ 9,633.10 के स्तर पर जाकर बंद हुआ। साल 2008 के बाद दर्ज की गई इस रिकॉर्ड गिरावट की वजह से निवेशकों के महज़ एक दिन में ही 11.42 लाख करोड़ रुपये डूब गए। बाजार विश्लेषकों का मानना है कि Coronavirus की वजह से निवेशकों में घबराहट की स्थिति पैदा हुई है। चूंकि कोरोना ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है और अब तक इसका कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है। इस वायरस से निपटने के लिए उठाए जा रहे एहतियाती कदमों ने निवेशकों के बीच घबराहट पैदा कर दी है जिस वजह से पूरे बाजार में घबराहट का माहौल बन गया है। सिर्फ कोरोना ही नहीं इस गिरावट के पीछे और भी कई कारण हैं लेकिन इसका सबसे बड़ा कारण कोरोना ही माना जा रहा है। वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल (crude oil) की कीमतों में गिरावट की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था खतरे में हैं और इस पर मंदी की आशंका बनी हुई है। दूसरी तरफ यस बैंक के ताजा संकट ने निवेशकों की घबराहट को और भी ज्यादा बड़ा दिया है।

Today Share Market Report : 550वें प्रकाश पर्व पर घरेलू बाजार रहे बंद

Prabhat Jain

Share.