website counter widget

World Boxing Championship: टूर्नामेंट से बाहर मैरी कॉम 

0

विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप (World Boxing Championships) के सेमीफाइनल में छह बार की चैंपियन एमसी मैरी कॉम को हार का सामना करना पड़ा। उन्हें ब्रॉन्ज मेडल (Mary Kom takes bronze medal) मिला, पहले उन्हें गोल्ड मिलने की बात कहीं जा रही थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। मैरी कॉम को सेमीफाइनल मुकाबले में तुर्की की बुसेनाज साकिरोग्लू (Busenaz Cakiroglu of Turkey defeated Mary Kom) के खिलाफ 1-4 से हार का सामना करना पड़ा।

India vs South Africa 2nd Test Live Score : दक्षिण अफ्रीका का सातवां विकेट गिरा 144/7

सेमीफाइनल में जीत की थी पक्की

मैरी कॉम ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में कोलंबिया की इंग्रिट वालेंसिया को हराया था ,  जिसके बाद उन्होने सेमीफायनल में अपना नाम पक्का किया था। वहीं चीन की केइ चोंग्जू को तुर्की की ने क्वार्टर फाइल में हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।

India vs South Africa 2nd Test Day 3 : कोहली ने सातवें दोहरे शतक से कई विराट रिकॉर्ड तोड़े

राष्ट्रीय कोच मुहम्मद अली कमर ने कहा था कि सभी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। हम उम्मीद करते हैं कि ये सभी फाइनल में पहुंचेंगी। कोई कभी भी इतने से संतुष्ट नहीं हो सकता। हमें खुशी है कि 2018 सत्र से हमारा प्रदर्शन खराब नहीं हुआ लेकिन यह निराशाजनक है कि हम उसे बेहतर नहीं कर सके। हमारे छह मुक्केबाज सेमीफाइनल में होने चाहिए थे लेकिन कुछ नजदीकी मुकाबलों में हमें हार मिली।

इस टीम के मुख्य कोच बने अनिल कुंबले

तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड

मैरी कॉम ने ब्रॉन्ज मेडल जीटेने के साथ अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। पदकों की संख्या के आधार पर वह पुरुष और महिला दोनों में सबसे सफल हैं। पुरुष वर्ग में क्यूबा के फेलिक्स सावोन ने सर्वाधिक सात पदक जीते हैं। महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मेरीकॉम का यह 8वां पदक है।  

विश्व चैम्पियनशिप: सर्वाधिक पदक

  1. मेरीकॉम (महिला) – 8 पदक (6 गोल्ड+1 सिल्वर +1 ब्रॉन्ज)
  2. फेलिक्स सेवॉन (पुरुष), 7 पदक (6 गोल्ड+ 1 सिल्वर)
  3. केटी टेलर (महिला) 6 पदक (5 गोल्ड+ 1 ब्रॉन्ज)

 

   – Ranjita Pathare

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.