कभी वेटर था यह खिलाड़ी

0

आईपीएल दुनिया का सबसे फेमस टी-20 क्रिकेट लीग माना जाता है। दुनियाभर के युवा और अनुभवी खिलाड़ी इस लीग में हिस्सा लेते हैं। आईपीएल युवा खिलाड़ियों को एक नई पहचान देने का भी काम करती है। हम बात कर रहे हैं एक ऐसे खिलाड़ी की, जो आईपीएल की एक बड़ी खोज में से एक है।

आईपीएल सीजन 11 की बात करें तो इस बार भी आईपीएल में कई युवा खिलाड़ी ऐसे हैं, जो अपने प्रदर्शन के दम पर भारतीय टीम में जगह बनाने का हौसला रखते हैं। उन्हीं में से एक नाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु के तेज गेंदबाज कुलवंत खेजरोलिया का है। उनको पिछले साल मुंबई ने 10 लाख में खरीदा था, लेकिन उन्हें आईपीएल में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

कभी वेटर थे

बता दें कि कुलवंत का जन्म राजस्थान के झुंझुनू में एक साधारण परिवार में हुआ था। बचपन से ही क्रिकेट को दीवानों की तरह चाहने वाले कुलवंत अपनी जीविका के लिए गोवा के एक रेस्टोरेंट में वेटर की नौकरी किया करते थे।

नौकरी छोड़ दिल्ली आ गए

अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुलवंत गोवा में वेटर की नौकरी छोड़कर दिल्ली आ गए और अपने घरवालों को बिना बताए एलबी शास्त्री क्लब से जुड़ गए। वहां कुलवंत ने मेंटर संजय भारद्वाज की देखरेख में बॉलिंग के गुण सीखे। आपको बता दें कि कुलवंत ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच विजय हजारे ट्रॉफी में खेला था।

Share.