ऋषभ पंत को लेकर सहवाग का कोहली और धोनी हमला

0

मौजूदा समय में (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) न्यूजीलैंड (New Zealand) के दौरे पर हैं जहां 5 T20 मैचों की श्रंखला खेली जा रही है और भारत ने इस सीरीज में लगातार 4 मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली है। भारतीय टीम (Team India) पहली ऐसी टीम बन गई है जिसने विदेशी धरती पर T20 सीरीज को शुरूआती तीन मैच जीतकर अपने नाम कर लिया। बता दें कि इस सीरीज (series) का तीसरा और चौथा मैच टाई हो गया और सुपर ओवर में पहुंच गया। दोनों ही बार सुपर ओवर (super over) में भारत ने जीत हासिल की। जहां भारतीय टीम (Indian Team) शानदार प्रदर्शन कर रही है वहीं पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) ने ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को टीम में न खिलाए जाने को लेकर सवाल खड़े किए हैं। चूंकि ऋषभ पंत (Rishabh Pant) विकेटकीपर और धाकड़ बल्लेबाज हैं इसलिए पहले उन्हें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Former team India Captain Mahendra Singh Dhoni)  के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा था लेकिन अब उन्हें टीम में स्थान नहीं दिया गया है। ऐसा नहीं है कि वे टीम का हिस्सा नहीं है, वे टीम में तो अब भी हैं लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया है इसी बात पर वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) काफी भड़क गए हैं। वीरेंद्र सहवाग सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और बेबाक तरीके से अपनी राय दुनिया के सामने रखते हैं। अभी ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की जगह केएल राहुल (K.L Rahul) को टीम में स्थान दिया गया है और वे ही टीम में विकेट कीपर की भूमिका निभा रहे हैं।

T-20 Cricket : 2 मैचों में 1 रन देकर झटके 10 विकेट

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की जगह केएल राहुल (K.l Rahul)  को टीम में खिलाए जाने के फैसले पर वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) ने मैनेजमेंट पर सवाल खड़े कर दिए और इस फैसले की जमकर आलोचना की। शुक्रवार को सहवाग (Virendra Sehwag)  ने कहा कि जिस खिलाड़ी को इतना बढ़ा-चढा कर पेश किया जाए और बाद में उसे टीम से बाहर कर दिया जाए तो इस पर टीम मैनेजमेंट को बात करनी चाहिए। इस बारे में सहवाग ने एक शो के दौरान बात की और कहा कि अगर ऋषभ को टीम से बाहर रखा जाएगा, उसे खिलाया नहीं जाएगा तो वो रन कैसे बनाएगा? इसी तरह यदि क्रिकेट (cricket) के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को भी टीम से बाहर कर बेंच पर बिठा दिया जाता तो क्या वे इतने रन बना पाते? जब आप ऋषभ को एक मैच विनर मानते हैं और उसे मैच को जिताने वाला खिलाड़ी कहते हैं तो फिर उन्हें मैच से बाहर क्यों रखा जाता है? इसकी वजह सिर्फ यह है कि उनके अंदर निरंतरता नहीं है।

Cricket Calendar: 3 बड़ी T-20 सीरीज, इन टीमों के बीच क्रिकेट का घमासान

इस पर सवाल उठाते हुए सहवाग (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) ने कहा कि हमारे समय में ऐसा नहीं होता था। हमारे समय में कप्तान जाकर खिलाड़ियों से बात करते थे और उन्हें हर बात बताते थे और उनकी बात सुनते थे। आगे सहवाग (Virendra Sehwag) ने कहा कि ‘अब मुझे नहीं पता कि आज भी यही सिलसिला चलता है या नहीं, टीम के कप्तान विराट कोहली खिलाड़ियों से बात करते हैं नहीं। मैं अब टीम का हिस्सा नहीं हूं, लेकिन जब रोहित शर्मा के हाथ में कमान थी और वे बतौर कैप्टिन एशिया कप खेले थे तब वे हर खिलाड़ी से बात करते थे।’ आगे सहवाग कहते हैं, “जब महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने ऑस्ट्रेलिया (Austrailia) में कहा कि हमारे टॉप तीन स्लो फील्डर हैं, तो हमसे कभी पूछा या चर्चा नहीं की गई थी। हमें मीडिया से इस बारे में पता चला था। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि हम स्लो फील्डर्स हैं लेकिन टीम मीटिंग में नहीं।” सहवाग (Virendra Sehwag Targeted MS Dhoni) ने टीम इंडिया (Team India Former Captain Mahendra Singh Dhoni) के पूर्व कप्तान एम एस धोनी को लेकर बड़ा बयान दिया है उन्होंने कहा कि धोनी ने कभी भी उनसे चर्चा या बात नहीं की जो गलत है। उनका इशारा इसी तरफ था कि MS धोनी (MS Dhoni) की वजह से ही उनका करियर ख़त्म हो गया। आगे उन्होंने कहा कि, “टीम मीटिंग में चर्चा होती थी कि रोहित शर्मा को मौका देना है जो नए बल्लेबाज हैं। और इसी वजह से हमें रोटेशन पॉलिसी अपनानी है। अगर अब भी वैसा ही हो रहा है तो यह गलत है।” उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया (Austrailia) के खिलाफ खेले गए पहले वनडे इंटरनेशनल (One Day International)  के दौरान पंत (Rishabh Pant) को हेलमेट पर गेंद लग गई थी तब उन्होंने 28 रन बनाए थे लेकिन गेंद लगने के बाद वे विकेटकीपिंग करने नहीं आए थे और तभी से उन्हें टीम में स्थान नहीं दिया गया जो गलत है।

Cricket Diary : क्यों आंखों के नीचे काला स्टीकर लगते थे शिवनारायण चंद्रपॉल

Prabhat Jain

Share.