बतौर कप्तान ऐसा कारनामा करने वाले पहले भारतीय बने विराट

0

चौथे टेस्ट मैच में 60 रनों की से हार का सामना करने के बाद भारतीय टीम इस सीरीज को भी हार गई है| इस सीरीज में भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने निराशजनक प्रदर्शन किया, लेकिन विराट की बल्लेबाजी ने सभी को प्रभावित किया| कोहली ने एक और उपलब्धि हासिल कर ली| वह टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान कोहली 4000 रन बनाने वाले पहले एशियाई और भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं| इसी के साथ वे ऐसा करने वाले दुनिया के सबसे तेज बल्लेबाज बन गए हैं|

कप्तान कोहली ने यह कारनामा इंग्लैंड के खिलाफ चौथे और बतौर कप्तान 39वें टेस्ट की 65वीं पारी में किया| वहीं कप्तान के तौर पर वे 16 शतक और 9 अर्धशतक जमा चुके हैं| इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट की दूसरी पारी में विराट ने 130 गेंदों का सामना करते हुए 58 रन बनाए थे| वहीं इससे पहले इसी टेस्ट में शुक्रवार को विराट ने टेस्ट क्रिकेट में 6000 रनों का आंकड़ा छुआ था|

कप्तान  कोहली ने इस मैच की पहली पारी में 6 रन बनाते ही टेस्ट क्रिकेट में 6000  रन पूरे कर लिए| कोहली ने अपनी 119वीं पारी में यह कारनामा किया| भारत की ओर से सबसे कम पारियों में 6000 टेस्ट रन बनाने का रिकॉर्ड पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज  सुनील गावस्कर के नाम दर्ज है, जिन्होंने 117 पारियों में इस आंकड़े को छुआ था| सबसे तेज 6000 टेस्ट रन पूरे करने वाले भारतीय की सूचि में विराट दूसरे स्थान पर आ गए हैं| सचिन को पीछे छोड़ कर उन्होंने यह स्थान हासिल किया है|

हार के बाद बोले विराट

60 रनों से हार का सामना करने के बाद कप्तान विराट कोहली ने बल्लेबाजों को हार का ज़िम्मेदार बताया| कोहली ने खासकर टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन को टीम की हार की सबसे बड़ी वजह बताई| उन्होंने कहा कि हम जैसी शुरुआत चाहते थे, हमें वैसी शुरुआत नहीं मिली|

गौरतलब है कि चौथे टेस्ट की दोनों पारियों में सलामी जोड़ी केएल राहुल और शिखर धवन टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने में नाकाम रहे| धवन ने पहली पारी में 23 रन तो दूसरी पारी में सिर्फ 17 रन बनाए| वहीं केएल राहुल पहली पारी में 19 रन बना पाए, तो दूसरी पारी में अपना खाता भी नहीं खोल सके|

इन बल्लेबाजों ने तोड़ा क्रिकेटप्रेमियों का दिल

Share.