यह है कॉमनवेल्थ गेम्स का इतिहास

0

कॉमनवेल्थ गेम्स के 11वें संस्करण का आयोजन ऑस्ट्रेलिया के शहर गोल्डकोस्ट में किया जा रहा है| यह आयोजन आज से 15 अप्रैल तक चलेगा| इस आयोजन में 71 देशों के 4500 से ज्यादा एथलीट भाग ले रहे हैं| इसमें 25 खेलों में 275 गोल्ड मेडल इवेंट्स होंगे| इसका आयोजन तीन स्टेडियमों में किया जा रहा है| उद्घाटन और समापन समारोह का आयोजन गोल्डकोस्ट में किया जाएगा|

कॉमनवेल्थ गेम्स का इतिहास:

इस आयोजन के इतिहास की बात करें तो इसका आयोजन ब्रिटिश साम्राज्य के खेलों के तौर पर किया गया था| इनमें वे देश हिस्सा लेते हैं, जो कभी ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा रह चुके हैं| 1930 से 1950 तक इन खेलों का आयोजन ब्रिटिश एम्पायर गेम्स, 1954-1966 तक ब्रिटिश एम्पायर एंड कॉमनवेल्थ गेम्स के तौर पर और 1970 से 1974 तक इन खेलों का आयोजन ब्रिटिश कॉमनवेल्थ गेम्स के तौर पर किया गया|

महत्वपूर्ण तथ्य

कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन हर 4 वर्ष में किया जाता है, लेकिन दूसरे विश्वयुद्ध की वजह से 1942 और 1946 में इन खेलों का आयोजन नहीं हो सका था|

पहले कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन वर्ष 1930 में एम्पायर गेम्स के नाम से न्यूजीलैंड के हेमिल्टन स्थित ओंटैरियो में किया गया था| इन खेलों में 11 देशों के 400 से ज्यादा एथलीटों ने हिस्सा लिया था|

पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स के नाम से इन खेलों का आयोजन 1978 में कनाडा के एडमोंटन में किया गया था| मलेशिया का शहर कुआलालम्पुर 1998 में इन खेलों का आयोजन करने वाला पहला एशियाई शहर था|

भारत की राजधानी नई दिल्ली में 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन किया गया था|

कुल 25 खेल होंगे गोल्डकोस्ट में

गोल्डकोस्ट में कुल 25 खेल होंगे| इन 25 खेलों में 18 खेल और सात पैरा-खेल आयोजित होंगे| खेलों में एथेलेटिक्स, बैडमिंटन, बॉक्सिंग, हॉकी, लॉन बॉल्स, नेटबॉल, रग्बी सेवेंस, स्क्वैश, तैराकी और वेट लिफ्टिंग प्रमुख खेल हैं| वहीं बास्केटबॉल, बीच वॉलीबॉल, साइकिलिंग, जिमनास्टिक, शूटिंग, टेबल टेनिस, ट्राइथलॉन और रेसलिंग वैकल्पिक खेल हैं|

Share.