स्पॉट फिक्सिंग के लिए 5 कप्तानों से सट्टेबाजों ने साधा संपर्क !

0

हमेशा से ही क्रिकेट पर फिक्सिंग का दाग लगा रहता है| स्पॉट फिक्सिंग से बचने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल अपनी पूरी कोशिश कर करती है, इसके बावजूद सट्टेबाज खिलाड़ियों से संपर्क साध लेते हैं| सोमवार को आईसीसी ने खुलासा करते हुए बताया कि पिछले 12 महीनों में अधिकतम 5 अंतरराष्ट्रीय टीमों के कप्तानों से बुकी ने संपर्क साधने की कोशिश की है| इसी के साथ आईसीसी ने यह भी खुलासा किया कि एशिया कप के दौरान अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद से स्पॉट फिक्सिंग के लिए संपर्क किया गया था|

शहजाद से ‘अफगान प्रीमियर लीग’ में अच्छा प्रदर्शन न करने के लिए सट्टेबाजों ने संपर्क किया था, जिसकी खबर अफगान खिलाड़ी ने आईसीसी को दी| ‘अफगान प्रीमियर लीग’ शारजाह में 5 से 23 अक्टूबर तक खेली जाएगी| शहजाद ने 75 वन डे और 65 इंटरनेशनल टी20 मैच खेले हैं| साथ ही वे भारत के खिलाफ खेले गए अफगानिस्तान के पहले और एकमात्र टेस्ट की टीम का भी हिस्सा थे|

आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख एलेक्स मार्शल ने कहा कि पिछले 12 महीने में जिन पांच कप्तानों से संपर्क किए गए हैं| उनमें चार आईसीसी के पूर्ण सदस्य देशों के हैं| मार्शल ने कहा, हम नाम जाहिर नहीं कर सकते, लेकिन पांच कप्तानों ने संदिग्ध संपर्क की सूचना दी है|

मार्शल ने आगे बताया, पिछले 12 महीने में भ्रष्टाचार से जुड़े 32 मामलों की जांच हुई है| आठ मामलों में शक की सुई खिलाड़ियों पर है| पांच मामलों में प्रशासक या खेल का हिस्सा नहीं रहे लोगों पर संदेह है| इनमें से तीन पर आरोप तय हुए हैं| पांच अंतरराष्ट्रीय कप्तानों से भी कथित तौर पर स्पॉट फिक्सिंग के लिए संपर्क किया गया था|  मार्शल के अनुसार, दुनियाभर में शुरू हो रहे टी-20 लीग भ्रष्टाचार रोधी इकाई के लिए सबसे बड़ी चुनौती है| ऐसे में आईसीसी कानून को और कड़ा बनाने और भ्रष्टाचार रोधी इकाई के मापदंडों का रिव्यू करने पर विचार कर रहा है|

Share.