पैसे के लिए फिर पाकिस्तानी खिलाड़ी ने की मुल्क से गद्दारी, Photo Viral

0

आतंकवाद (Terrorism) हो या भ्रष्टाचार (Corruption) दोनों में ही पाकिस्तान (Dugout During Pakistan Super League) हमेशा अव्वल रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बड़ी मिन्नतों के बाद पाकिस्तान में क्रिकेट (Cricket started in Pakistan) शुरू हुआ। जैसा कि सभी जानते हैं कि पाकिस्तान को आतंकवादी (Terrorist country) राष्ट्र घोषित किया जा चुका है और पाकिस्तान (Pakistan) में दूसरे देशों के खिलाड़ियों पर आतंकवादी (Terrorist) हमले भी हुए हैं जिन्हे देखते हुए कोई भी देश अपनी टीम को वहां खेलने के लिए नहीं भेज रहा और न ही कोई भी टीम पाकिस्तान (Pakistan Cricket Team) में मैच खेलने जाना चाहती है। लेकिन जब पाकिस्तान ने तमाम देशों से मिन्नतें की और उनके खिलाड़ियों की सुरक्षा का हवाला दिया तब कहीं जाकर पाकिस्तान सुपर लीग (Pakistan Super League) शुरू हो सका। इस सुपर लीग को शुरू हुए महज़ 2 दिनों का समय ही हुआ है और यह लीग विवादों में उलझ गया है और इसकी वजह स्पॉट फिक्सिंग बताई जा रही है। दरअसल पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) के पूर्व फास्ट बॉलर शोएब अख्तर (Pakistan Fast bowler Shoaib Akhtar) ने एक तस्वीर साझा की है जिसमें डगआउट में टीम  (Dugout During Pakistan Super League) से जुड़े लाेग मोबाइल फोन पर बात करते हुए नज़र आ रहे हैं।

Pakistan ODI Squad : वनडे सीरीज के लिए पाकिस्तान टीम घोषित…

दरअसल इस सीजन में पेशावर जाल्मी और कराची किंग्स  (Dugout During Pakistan Super League) के बीच मुकाबला चल रहा था जिसके दौरान स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) का मामला सामने आया है। जब यह मैच खेला जा रहा था तभी 13 वें ओवर के दौरान एक व्यक्ति डगआउट (Pakistan Cricket Team Dugout) में मोबाइल फ़ोन पर बात कर रहा था। जो टीम का सदस्य था। ICC के नियमानुसार ड्रेसिंग रूम या डगआउट में टीम (Team in dressing room or dugout) से जुड़ा कोई भी सदस्य मोबाइल फ़ोन पर बात नहीं कर सकता। अगर वहां मौजूद किसी सदस्य को किसी से बात करनी है तो मैनेजमेंट उनकी बात अपने वॉकी-टॉकी से करवाती है। कमेटी के नियम के मुताबिक़ अगर कोई अपने मोबाइल से खुद बात करता है तो इसे स्पॉट फिक्सिंग का जरिया माना जाता है। आपको बता दें कि डगआउट बाउंड्री के पास टीम के बैठने की जो व्यवस्था होती है उसे कहा जाता है। जब कराची किंग्स की बैटिंग चल रही थी तभी 13 वें ओवर में वहां बैठे एक सदस्य ने फोन पर बात की जिसकी तस्वीर शोएब अख्तर ने साझा की हैं। शोएब अख्तर ने तस्वीर साझा करते हुए लिखा कि डगआउट में किसी खिलाड़ी या फिर टीम से जुड़े सदस्य का इस तरह फोन पर बात करना सरासर गलत है, यह क्रिकेट नियमों के विरूद्ध है। हालांकि इस पर अभी तक पाकिस्तान सुपर लीग यानी PCB की तरफ से कोई भी टिपण्णी नहीं की गई है। लेकिन कराची किंग्स के कोच डीन जोंस ने इस विषय पर अपनी सफाई पेश की है।

Video: ऑटो चलाने पर मजबूर Pakistani Cricketer Fazal Subhan

टीम के कोच डीन जोंस (Team Coach Dean Jones) ने सफाई में कहा कि जो शख्स फ़ोन (player talking on phone) पर बात करते हुए दिखाई दे रहा है वह टीम (Dugout During Pakistan Super League) के सीईओ (CEO) तारिक हैं। उन्होंने आगे कहा कि CEO सिर्फ अपना अपना काम कर रहे थे और टीम के अभ्यास सत्र की व्यवस्‍था करने कोशिश में जुटे हुए थे। हालांकि उनकी यह बात कहां तक सही है यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है क्योंकि फोन पर बात करने वाला व्यक्ति टीम का CEO ही था इसकी पुष्टि नहीं हुई है। वहीं कोच डीन जोंस का कहना है कि टी20 क्रिकेट (T20 Cricket) में CEO और मैनेजर को फ़ोन पर बात करने की छूट होती है और वे अपने मोबाइल का इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि इस बात से सभी भली भांति परिचित हैं और इस बात को नाकारा नहीं जा सकता कि मैच में स्पॉट फिक्सिंग और भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान सबसे अव्वल है। यह उसकी पुरानी आदत है। ऐसे में जब पाकिस्तान में पाकिस्तान सुपर लीग (Pakistan Super League) चल रहा है तो स्पॉट फिक्सिंग की आशंका ज्यादा है क्योंकि पाकिस्तानी खिलाड़ी देश के लिए कम और पैसों के लिए ज्यादा खेलते हैं। वहीं यह तस्वीर सोशल मीडिया (viral photos on social media) पर तेजी से वायरल हो रही है और पूरी दुनिया के सामने पकिस्तान की किरकरी हो रही है।

Pakistan को Arvind Kejriwal का तमाचा

Prabhat Jain

Share.