पाकिस्तान क्रिकेट में फिक्सिंग, शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा

0

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इस समय मैच फिक्सिंग (Match Fixing) की काफी चर्चा चल रही है| हाल ही में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल हसन पर 2 साल का बैन लगाया गया है| सट्टेबाजों ने उनसे संपर्क किया था, जिसकी जानकारी उन्होंने आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई को नहीं दीम जिसके बाद उन पर जुर्माना लगा दिया गया| अब पाकिस्तान क्रिकेट में भी फिक्सिंग को लेकर चर्चा तेजी हो गयी है| पाकिस्तानी खिलाड़ियों का नाम कई बार फिक्सिंग में आया है और उन पर उन्हें प्रतिबंधित भी किया गया है|

साल 2011 में पाकिस्तान टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir), सलामी बल्लेबाज़ सलमान बट्ट और तेज़ गेंदबाज मोहम्मद आसिफ (Mohammad Asif) पर फिक्सिंग की वजह से प्रतिबंध लग चुका है|  पाकिस्तान क्रिकेट टीम और मैच फिक्सिंग को लेकर अब टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कई खुलासे किए हैं|

उन्होंने एक टीवी शो में पाकिस्तानी क्रिकेटरों के मैच फिक्सिंग में शामिल होने के बारे में कहा, “मुझे हमेशा से ये विश्वास था कि मैं कभी पाकिस्तान को धोखा नहीं दे सकता| मैच फिक्सिंग का सवाल ही नहीं था| मैं चारों ओर से मैच फिक्सरों से घिरा हुआ था| मैं 22 लोगों के खिलाफ खेल रहा था| 11 विपक्षी टीम के और दस अपनी टीम के| कौन जानता है कि इनमें से कौन मैच फिक्सर था| तब बहुत मैच फिक्सिंग हो रही थी| मोहम्मद आसिफ (Mohammad Asif) ने मुझे बताया था कि उन्होंने किन मैचों में फिक्सिंग की है और ये काम कैसे किया है|”

फिक्सिंग में बैन झेल चुके तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ के बारे कहा, “जब मैंने मैच फिक्सिंग के बारे में सुना तो बहुत गुस्सा आया| मैंने दीवार पर मुक्का मारा| पाकिस्तान के दो टॉप के तेज गेंदबाज, समझदार और प्रतिभाशाली, लेकिन उन्होंने थोड़े से पैसों के लिए खुद को बेच दिया| ये बेहतरीन प्रतिभाओं की बर्बादी थी|”  बता दें, मोहम्मद आमिर, मोहम्मद आसिफ और सलमान बट्ट पर 5-5 साल का बैन लगा था|

-Hriday Kumar

Share.