फिर सामने आई सचिन की दरियादिली

0

क्रिकेट जगत में सचिन तेंदुलकर एक विशिष्ट स्थान रखते हैं| उन्हें क्रिकेट जगत का भगवान माना जाता है| क्रिकेट से अलविदा कहने के बाद सचिन मैदान के बाहर कई सामाजिक कार्यों में जुट गए| कई बार उन्होंने स्कूलों और जरूरतमंदों के लिए सहायता राशि दी है| हाल ही में सचिन का संसद का कार्यकाल समाप्त हुआ है| उन्होंने राज्यसभा सांसद के रूप में मिलने वाला अपना पूरा वेतन और भत्ते प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर सहृदयता की एक मिसाल पेश की है|

पिछले छह वर्षों में तेंदुलकर को वेतन के रूप में लगभग 90 लाख रुपए और अन्य मासिक भत्ते मिले थे, जिसे उन्होंने राहत कोष में दान कर दिए|

प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी आभार-पत्र जारी किया है, जिसमें लिखा गया है कि “प्रधानमंत्री ने इस सहृदयता के लिए आभार व्यक्त किया है| यह योगदान संकटग्रस्त लोगों को सहायता पहुंचाने में बहुत मददगार होगा|

बता दें कि, इससे पहले तेंदुलकर ने दक्षिण मुंबई और जम्मू-कश्मीर के एक स्कूल के निर्माण के लिए राशि दी थी| इसी के साथ सांसद आदर्श ग्राम योजना कार्यक्रम के तहत सचिन ने दो गांवों को भी गोद लिया, जिनमें आंध्रप्रदेश का पुत्तम राजू केंद्रिगा और महाराष्ट्र का दोंजा गांव शामिल हैं|

Share.