विश्वकप हारने का कारण

0

हॉकी विश्वकप 2018 में भारतीय टीम को क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था| इस हार के साथ ही भारतीय टीम की विदाई इस विश्वकप से हो गई है| नीदरलैंड ने भारत को 2-1 से हराया| इस हार के बाद टीम के कोच ने अंपायरिंग पर सवाल उठाए हैं| अंपायरिंग पर अंगुली उठाते हुए भारतीय हॉकी टीम के कोच हरेंद्रसिंह ने कहा कि खराब अंपायरिंग ने एशियाई खेल के बाद उनकी टीम से कप जीतने का मौका भी छीन लिया|

हरेंद्र ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “मेरी समझ में नहीं आता कि अमित रोहिदास को दस मिनट का पीला कार्ड क्यों दिखाया गया, जबकि मनप्रीत को पीछे से धक्का मारने पर भी डच खिलाड़ी को कोई कार्ड नहीं मिला| हम एशियाई खेल के बाद विश्वकप जीतने का मौका भी खराब अंपायरिंग से गवां गए| मैं इस हार के लिए माफी चाहता हूं, लेकिन जब तक अंपायरिंग का स्तर नहीं सुधरेगा, हम ऐसे ही नतीजों का सामना करते रहेंगे|”

वहीं भारतीय टीम के कप्तान मनप्रीतसिंह ने कहा, “दो बड़े टूर्नामेंटों में हमारे साथ ऐसा हुआ| लोग हमसे पूछते हैं कि हम जीत क्यों नहीं रहे| हमारी टीम के प्रदर्शन में सुधार क्यों नहीं हो रहा, लेकिन हम क्या जवाब दें|”

हार के बाद भी कोच ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों की तारीफ की| कोच ने कहा, “उन्होंने बराबरी से मुकाबला किया और मैं उनको सलाम करता हूं| दोनों टीमों ने काफी आक्रामक हॉकी खेली और कई बार आप सही पोजिशन पर नहीं रहते या स्टिक सही जगह नहीं होती तो यह सब होता रहता है| गोलकीपर के बिना भी जिस तरह से मेरे खिलाड़ी खेले, उनको सलाम है|”

हॉकी विश्वकप : इतिहास बदल पाएगी भारतीय टीम?

हॉकी विश्वकप : भारत को मिलेगा फायदा

जानें हॉकी विश्वकप 2018 की ख़ास बातें

Share.