भारत के इस बड़े अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम का नाम बादला, जानें वजह

0

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाते हुए फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के नाम को बदल दिया है| अब यह स्टेडियम पूर्व वित्त मंत्री और बीसीसीआई के उपाध्यक्ष अरुण जेटली के नाम से जाना जाएगा| बता दें कि इस 27 अगस्त को उन्होंने दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली थी| उनके जाने से पूरे भारत में शोक की लहर दौड़ गई थी|

विराट का बड़ा बयान, क्यों रोहित को किया बाहर?

फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के नए नाम का नामकरण 12 सितंबर को एक समारोह में किया जाएगा| इसमें एक स्टैंड का नाम भारतीय कप्तान विराट कोहली के नाम पर भी रखा जाएगा जिसकी घोषणा पहले ही हो चुकी है| डीडीसीए अध्यक्ष रजत शर्मा ने कहा, “वह अरुण जेटली का सहयोग और प्रोत्साहन था जो कि विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, आशीष नेहरा, ऋषभ पंत और कई अन्य खिलाड़ियों ने भारत को गौरवान्वित किया|”

जेटली को स्टेडियम को आधुनिक सुविधाओं से युक्त बनाने और दर्शक क्षमता बढ़ाने के साथ विश्वस्तरीय ड्रेसिंग रूम बनवाने का श्रेय जाता है| समारोह जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में होगा जिसमें गृह मंत्री अमित शाह और खेल मंत्री कीरेन रीजीजू भी हिस्सा लेंगे| अरुण जेटली के निधन के बाद राजनीतिक हस्तियों के अलावा भारतीय खिलाड़ियों ने भी सोशल मीडिया पर शोक जाहिर किया था| भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज और पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम ने अरुण जेटली को पिता तुल्य बताया था|

बड़ी खबर : वर्ल्ड T20 में फिक्सिंग, ICC ने लगाया आजीवन प्रतिबंध

गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा, “एक पिता आपको बोलना सिखाते हैं, लेकिन ‘पिता तुल्य’ आपको यह सिखाते हैं कि कैसे बोलना है। एक पिता आपको चलना सिखाते हैं, लेकिन ‘पिता तुल्य’ ये सिखाते हैं कि कैसे चलना है। एक पिता आपको नाम देते हैं, लेकिन ‘पिता तुल्य’ आपको पहचान देते हैं। मेरे ‘पिता तुल्य’ अरुण जेटली नहीं रहे, मुझसे मेरा एक हिस्सा दूर चला गया है। RIP Sir.

गंभीर के अलावा वीरेंद्र सहवाग, वीवीएस लक्ष्मण, हरभजन सिंह सहित कई खिलाडियों ने उन्हें सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दी थी|

इंग्लैंड के बाहुबली बेन स्टोक्स के दम पर टीम ने रचा इतिहास

Share.