युवराज के साथी ने लिया संन्यास

0

भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है| कैफ ने शुक्रवार को क्रिकेट के सभी फ़ॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की| कैफ ने अपना अंतिम वनडे खेलने के 12 वर्ष बाद संन्यास की घोषणा की है| कैफ का नाम सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में शुमार है| उन्होंने कई बार भारत को अहम मुकाबलों में जीत दिलाई है|

37 वर्षीय कैफ ने 13 टेस्ट मुकाबलों में कुल 624 रन बनाए हैं| वहीं वनडे क्रिकेट में उन्होंने 125 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 32 के औसत से 2753 रन बनाए हैं| वनडे में कैफ ने 2 शतक और 17 अर्धशतक लगाए हैं| कैफ को लाडर्स में खेली गई ‘नेटवेस्ट ट्रॉफी’ के फाइनल मुकाबले के लिए याद किया जाता है| उन्होंने फाइनल में 87 रन की पारी खेली थी| जीत के बाद कप्तान सौरभ गांगुली ने लॉर्ड्स की बालकनी में खड़े होकर अपनी टी-शर्ट हवा में लहराई थी|

कैफ वर्ष 2003 में खेले गए विश्व कप फाइनल मुकाबले का भी हिस्सा थे| युवराज सिंह के साथ वह अंडर 19 क्रिकेट से चमके थे| कैफ ने युवराज के साथ कई मुकाबलों में अहम साझेदारियां की है और भारत को जीत दिलाई है| उत्तरप्रदेश के लिये रणजी ट्राफी जीतने वाले कैफ ने आखिरी प्रथम श्रेणी मैच छत्तीसगढ़ के लिये खेला था| संन्यास की घोषणा करते हुए मैफ ने लिखा, “नेटवेस्ट ट्राफी में मिली जीत को 16 वर्ष हो गए हैं और आज मैं संन्यास ले रहा हूं| मैं भारत के लिए खेलने का मौका दिये जाने के लिए बोर्ड का शुक्रगुजार हूं|”

कैफ ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स को अलविदा भले ही कह दिया हो, लेकिन वे क्रिकेट के मैदान पर बतौर कमेंटेटर दिखाई देते रहेंगे|

Share.