Ind vs Eng: इन खिलाड़ियों के बीच होगी टक्कर

0

भारत और इंग्लैंड के बीच 1 अगस्त से बर्मिंघम में टेस्ट सीरीज़ की शुरुआत होने जा रही है| क्रिकेटप्रेमी इस सीरीज़ का इंतज़ार लम्बे समय से कर रहे हैं| उम्मीद की जा रही है कि दो टीमों के खिलाड़ियों के बीच रोमांचक जंग देखने को मिलेगी| कप्तान के तौर पर विराट कोहली का टेस्ट क्रिकेट में रिकॉर्ड काफी शानदार है| कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने अब तक एक भी सीरीज़ नहीं हारी है वहीं विदेशी ज़मीन पर साउथ अफ्रीका में इस साल जनवरी में हुई टेस्ट सीरीज़ में टीम इंडिया को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा था| अब देखते हैं कि भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ उसकी सरजमीं पर जीत दर्ज कर पाती है या नहीं?

वर्ष 2014 के इंग्लैंड दौरे पर भारत को 3-1 से हार का सामना करना पड़ा था| उस सीरीज़ में गेंदबाजों ने तो ठीक-ठाक प्रदर्शन किया था, लेकिन बल्लेबाजों में राहुल द्रविड़, मुरली विजय और अजिंक्य रहाणे को छोड़कर कोई अन्य बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाया था|

विराट बनाम एंडरसन

वर्ष 2014 में हुई सीरीज के दौरान इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ जेम्स एंडरसन ने उन्हें काफी परेशान किया था| उन्होंने इस सीरीज़ में विराट को चार बार अपना शिकार बनाया था| दोनों खिलाड़ियों के बीच इस मैदान में रोचक जंग देखने को मिलेगी|

अश्विन बनाम रूट

रविचंद्रन अश्विन विश्व के सर्वश्रेष्ठ ऑफ स्पिनर्स में से एक हैं| वहीं इस समय इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भी काफी लय में चल रहे हैं| एक बार मैदान पर टिक जाने के बाद रूट बड़ी पारी खेलते हैं| वनडे सीरीज में रूट ने दो शतक जड़े थे| रूट को जल्द से जल्द पैवेलियन भेजने की जिम्मेदारी अश्विन की होगी| स्पिन के खिलाफ जो रूट थोड़ा संघर्ष करते हैं|

एलिस्टर कुक बनाम इशांत शर्मा

इंग्लैंड के इस दौरे पर टीम इंडिया के दो प्रमुख तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह चोटिल हैं। ऐसे में टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी ईशांत शर्मा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी की तिकड़ी पर निर्भर करेगी। ईशांत शर्मा 2014 में भी इंग्लैंड के दौरे पर आ चुके हैं। तब उन्होंने टेस्ट सीरीज के पहले दो मैच ही खेले थे और उसके बाद चोटिल हो गए थे। हालांकि, उन्होंने दो मैचों में 10 विकेट अपने नाम किए थे। जिसमें लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में उन्होंने 7 विकेट झटककर टीम को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

एलिस्टर कुक इंग्लैंड के लिए ओपनिंग करेंगे। वह अब उतने प्रभावी बल्लेबाज नहीं रहे, जैसे कुछ साल पहले हुआ करते थे। पिछले 16 टेस्ट मैचों में कुक ने दो शतक जमाए हैं। हालांकि, दोनों ही दोहरे शतक थे। हालांकि भारत के खिलाफ कुक बेहतरीन बल्लेबाजी करते हैं। ऐसे में ईशांत शर्मा भारत की गेंदबाजी की अगुवाई करेंगे और उनके कंधों पर जिम्मेदारी होगी कि वह एलिस्टर कुक को जल्दी पवेलियन भेजें और टीम इंडिया को उनके प्रकोप से बचाएं। क्योंकि यह बल्लेबाज एक बार अगर 40 रन के पार पहुंच गया तो फिर बड़ी पारी खेलकर ही दम लेता है।

Share.