कोहली बन सकते हैं सर्वश्रेष्ठ कप्तान

0

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़  की शुरुआत ऐतिहासिक जीत के साथ की है| वहीं विराट कोहली को भारत का सबसे सफल कप्तान बनने के लिए केवल तीन जीत की दरकार है| यदि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्तमान सीरीज में टीम क्लीन स्वीप करने में सफल रहती है तो वे महेंद्रसिंह धोनी को पीछे छोड़कर सर्वश्रेष्ठ कप्तान बन जाएंगे|

विश्व के नंबर वन बल्लेबाज कोहली के नेतृत्व में भारत ने अब तक 43 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें से 25 में भारतीय टीम ने जीत दर्ज की है| बाकी मैचों में से नौ मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा है, जबकि नौ ही मैच ड्रॉ रहे हैं| इस समय धोनी नंबर वन कप्तान हैं| उन्होंने 60 मैचों में 27 जीत दर्ज की है| यानी महेंद्रसिंह धोनी की बराबरी करने के लिए कोहली को दो मैचों में जीत की दरकार है|

बिशन सिंह बेदी को छोड़ सकते हैं पीछे

ऑस्ट्रेलियाई धरती पर मैच जीतने वाले वे पांचवें भारतीय कप्तान हैं| बिशनसिंह बेदी की अगुवाई में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में दो मैच जीते हैं और कोहली यह रिकॉर्ड भी अपने नाम पर करना चाहेंगे| सुनील गावस्कर, गांगुली और अनिल कुंबले की कप्तानी में भी भारत ने ऑस्ट्रेलिया में 1-1 मैच जीता है|

गांगुली भी रह जाएंगे पीछे

धोनी के अलावा कोहली के पास गांगुली को पीछे छोड़ने का भी मौका है| विदेशों में सबसे अधिक जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के नाम है| उनके नेतृत्व में भारतीय टीम ने विदेशी जमीन पर सर्वाधिक 11 टेस्ट मैच जीते हैं, जबकि कोहली के नेतृत्व में टीम ने 10 टेस्ट मैच में जीत दर्ज की है| यदि भारतीय टीम पर्थ टेस्ट में जीत दर्ज करने में कामयाब रहती है तो कोहली गांगुली की बराबरी कर लेंगे| वहीं तीसरी जीत हासिल कर कोहली गांगुली को पीछे छोड़ देंगे|

पर्थ टेस्ट : टीम से बाहर हुए बड़े नाम

पर्थ में भारत-ऑस्ट्रेलिया के रिकॉर्ड

कोहली को टक्कर दे रहा न्यूजीलैंड का यह खिलाड़ी

Share.