नीदरलैंड ने तोड़ा भारत का सपना

0

भारतीय हॉकी टीम का दूसरी बार विश्वकप का खिताब अपने नाम करने का सपना नीदरलैंड ने गुरुवार को तोड़ दिया| नीदरलैंड के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में भारतीय टीम को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा| इसी के साथ भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले गए क्वार्टर फाइनल को जीतकर नीदरलैंड ने सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली है|

भारतीय हॉकी टीम बिना किसी हार के टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी| वर्ष 1971 से अब तक भारत सिर्फ एक बार ही विश्वकप के खिताब को जीत पाया है| भारतीय टीम ने पहली यह खिताब वर्ष 1975 में अपने नाम किया था| उसके बाद भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1994 में रहा, जब टीम पांचवें स्थान पर रही थी|

बेहद संघर्षपूर्ण क्वार्टर फाइनल में पिछली बार की उपविजेता टीम नीदरलैंड्स की ओर से भारत के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में थिरी ब्रिंकमैन (15वें मिनट) और वेन डेर वीरडन मिंक (50वें मिनट) ने गोल दागे| वहीं, भारत की ओर से एकमात्र गोल आकाशदीप सिंह ने 12वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया| नीदरलैंड्स तीन बार (1973, 1990, 1998) में खिताब जीत चुका है। नीदरलैंड्स का सामना अब सेमीफाइनल में 15 दिसंबर को ऑस्ट्रेलिया से होगा|

भारतीय हॉकी टीम ने जीता एशिया कप

हॉकी विश्वकप : इतिहास बदल पाएगी भारतीय टीम?

हॉकी विश्वकप : भारत को मिलेगा फायदा

Share.