हॉकी विश्वकप : इतिहास बदल पाएगी भारतीय टीम?

1

हॉकी विश्वकप 2018 : इस समय भारतीय हॉकी टीम दूसरी बार विश्वकप का खिताब अपने नाम करने की जद्दोज़हद में लगी हुई है| आज यानी गुरुवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम की टक्कर नीदरलैंड से होगी| उम्मीद की जा रही है कि दोनों टीमों के बीच यह मुकाबला कांटे की टक्कर का होगा| भारतीय टीम पूल-सी के 3 मुकाबलों में से 2 जीत और एक ड्रॉ के साथ क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी|

क्वार्टर फाइनल तक का सफर
साउथ अफ्रीका को 5-0 से हराया|
बेल्जियम से 2-2 का ड्रॉ खेला|
कनाडा को 5-1 से हराया|

वहीं नीदरलैंड पूल ‘डी’ में दूसरे स्थान पर रहकर क्रॉस ओवर खेला और कनाडा को पांच गोल से रौंदकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचा| भारतीय हॉकी टीम वर्ल्ड रैंकिंग्स में नीदरलैंड से एक पायदान नीचे पांचवें स्थान पर है| भारतीय टीम के लिए यह मुकाबला काफी चुनौतीपूर्ण होगा क्योंकि भारतीय टीम आज तक विश्वकप में नीदरलैंड को नहीं हरा सकी है|

दूसरे खिताब की तलाश में भारत

वर्ष 1971 से अब तक भारत टूर्नामेंट में सिर्फ एक बार 1975 में खिताब जीत सका है| इसके बाद से भारतीय टीम वर्ष 1994 में खेले गए विश्वकप में पांचवें स्थान पर रही थी| वहीं टूर्नामेंट की सबसे सफल टीमों में से एक नीदरलैंड तीन बार इस खिताब को अपने नाम कर चुकी है| वर्ष 1973, 1990 और 1998 में नीदरलैंड ने यह खिताब जीता था| वहीं पिछले विश्वकप में वह उपविजेता रही थी|

कब-कहां देखें मुकाबला

यह मुकाबला ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेला जाएगा| भारतीय समयानुसार यह मुकाबला शाम 7 बजे से खेला जाएगा|

हॉकी विश्वकप : भारत को मिलेगा फायदा

जानें हॉकी विश्वकप 2018 की ख़ास बातें

बेल्जियम ने छीनी भारत से जीत

Share.